Advertisement
Advertisement

मैच फिक्सिंग के आरोप में दो चीनी स्नूकर खिलाड़ियों पर आजीवन प्रतिबंध

वल्र्ड प्रोफेशनल बिलियर्डस एंड स्नूकर एसोसिएशन (डब्ल्यूपीबीएसए) द्वारा मैच फिक्सिंग के लिए दंडित किए गए 10 खिलाड़ियों के समूह में चीनी स्नूकर खिलाड़ियों लियांग वेनबो और ली हैंग पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया है।...

Advertisement
IANS News
By IANS News June 07, 2023 • 14:15 PM
Two Chinese snooker players banned for life for match-fixing
Two Chinese snooker players banned for life for match-fixing (Image Source: Google)

वल्र्ड प्रोफेशनल बिलियर्डस एंड स्नूकर एसोसिएशन (डब्ल्यूपीबीएसए) द्वारा मैच फिक्सिंग के लिए दंडित किए गए 10 खिलाड़ियों के समूह में चीनी स्नूकर खिलाड़ियों लियांग वेनबो और ली हैंग पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया है।

डब्ल्यूपीबीएसए ने मंगलवार को एक बयान जारी कर पुष्टि की कि दस खिलाड़ियों पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे हैं। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, इसने लियांग और ली पर आजीवन प्रतिबंध लगाया और इसमें शामिल अन्य खिलाड़ियों पर भी काफी निलंबन लगाया।

36 वर्षीय लियांग, जो पिछले अक्टूबर से स्नूकर स्पर्धाओं से निलंबित हैं, को पांच स्नूकर मैचों में हेरफेर करने का दोषी पाया गया, अन्य खिलाड़ियों को नौ मैच फिक्स करने के लिए राजी करने या सक्षम करने का प्रयास किया गया। उन्होंने स्नूकर मैचों पर भी सट्टा लगाया और डब्ल्यूपीबीएसए जांच में सहयोग करने में विफल रहे।

32 वर्षीय ली पर मैच फिक्सिंग और अन्य खिलाड़ियों को मैच के परिणामों में हेरफेर करने के लिए उकसाने या सुविधा देने का भी आरोप लगाया गया था।

इसके अतिरिक्त, 2021 मास्टर चैंपियन यान बिंगताओ पर 11 दिसंबर 2027 तक पांच साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है। झाओ शिंटोंग, जिनके नाम दो रैंकिंग खिताब हैं, को एक साल और आठ महीने का निलंबन मिला है, जो 1 सितंबर 2024 को समाप्त होने वाला है।

डब्ल्यूपीबीएसए के अध्यक्ष जेसन फग्र्युसन ने कहा, यह एक बहुत ही जटिल मामला रहा है। दो वरिष्ठ खिलाड़ियों द्वारा लगाए गए दबाव के कारण कुछ युवा प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को डब्ल्यूपीबीएसए आचरण विनियमों का उल्लंघन करते देखना दिल दहला देने वाला रहा है। मान्यता प्राप्त स्नूकर में किसी भी तरह से भाग लेने पर दो आजीवन प्रतिबंध लगाकर इस व्यवहार को पूरी तरह से अस्वीकार्य माना गया है।

26 वर्षीय झाओ ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर माफी मांगी। मैं कुछ महीने पहले निलंबित किए जाने के बाद से अपनी अज्ञानता और मूर्खता पर पूरी तरह से पछता रहा हूं। मुझे शर्म आती है क्योंकि मैंने गलती करके सभी को निराश किया। मैं बस सभी से सॉरी कहना चाहता हूं।

Also Read: किस्से क्रिकेट के

झाओ ने जोर देकर कहा कि उन्होंने कभी कोई मैच फिक्स नहीं किया था या मैच फिक्सिंग के बारे में सोचा भी नहीं था, लेकिन वह सट्टेबाजी में सहायता करने के लिए एक मित्र के अनुरोध को अस्वीकार करने में विफल रहे। मैंने इससे कोई लाभ नहीं कमाया, लेकिन मैंने अपनी मूर्खता की भारी कीमत चुकाई।


Advertisement
TAGS
Advertisement
Advertisement
Advertisement