X close
X close
Indibet

ऑस्ट्रेलिया से लेकर शोएब अख्तर तक, 3 ऐसे मौके जब स्लेजिंग करके पछताए खिलाड़ी

क्रिकेट के मैदान पर आए दिन स्लेजिंग देखी जाती है, लेकिन स्लेजिंग से जुड़े कुछ किस्से ऐसे हैं जिन्हें फैंस चाहकर भी नहीं भूल सकते।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat July 06, 2022 • 15:40 PM

एजबेस्टन टेस्ट के दौरान विराट कोहली ने जॉनी बेयरस्टो को स्लेज किया, जिसके बाद इंग्लिश बल्लेबाज़ ने अपना दम दिखाया और विस्फोटक अंदाज में शतक ठोका। इतना ही नहीं जॉनी ही वह शख्स थे जिन्होंने इंडिया को एजबेस्टन टेस्ट जीत से काफी दूर धकेला, लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। क्रिकेट के मैदान पर कई बार ऐसा देखा गया है जब स्लेज करने वाले को ही भारी नुकसान उठाना पड़ा है। आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपके साथ ऐसे ही कुछ किस्से शेयर करेंगे।

हरभजन सिंह बनाम शोएब अख्तर (2010)

Trending


हरभजन सिंह और शोएब अख्तर काफी अच्छे दोस्त हैं, लेकिन मैदान पर दोनों ही दिग्गज हमेशा एक दूसरे से दुश्मनों की तरह भिड़े हैं। पाकिस्तानी स्टार शोएब अख्तर के दिल में भी स्लेजिंग की जुड़ी बुरी यादे शुमार है।

दरअसल यह किस्सा साल 2010 एशिया कप के दौरान घटा। पाकिस्तान ने भारत के सामने 268 रनों का लक्ष्य रखा था। भारतीय टीम को मीडिल ऑर्डर में झटके लगे जिसके बाद मुकाबला फंस गया। 

अब शोएब के सामने हरभजन सिंह थे। ऐसे में दोनों ही दिग्गजों के बीच कहा सुनी हुई, जिसके बाद दोनों ही भौखला गए। अख्तर हरभजन सिंह को बाउंसर मार रहे थे, वहीं हरभजन भी गेंदबाज़ को सबक सीखाने की ठान चुके थे। इसी बीच शोएब की एक गेंद पर हरभजन ने अपनी कला का प्रमाण दिया और बड़ा छक्का जड़कर शोएब अख्तर को हक्का-बक्का होने पर मजबूर कर दिया। यह मैच भारतीय टीम के नाम रहा था।

ब्रायन लारा बनाम ऑस्ट्रेलिया (2003)

वेस्टइंडीज क्रिकेट के स्टार ब्रायन लारा अपने समय के सबसे विस्फोटक बल्लेबाज़ों में से एक थे। साल 2003 में एक टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम ने ब्रायन लारा को स्लेज करने की भारी गलती की थी, जिसके बाद उन्हें दिन में तारे देखने पड़े।

दरअसल, वेस्टइंडीज ऑस्ट्रेलिया टेस्ट के दौरान येलो आर्मी पहली इनिंग में 240 पर सिमट चुकी थी। वेस्टइंडीज ने 3 विकेट गंवाकर 73 रन जोड़ लिए थे, ऐसे में मैदान पर ब्रायन लारा आते हैं। लारा को देखकर ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाज़ मैथ्यू हेडन और कप्तान स्टीव वॉ ने अपनी स्लेजिंग की नीति अपनाई और बाएं हाथ के बल्लेबाज़ पर शब्दों के बाण छोड़े।

ब्रायन लारा ऑस्ट्रेलियाई टीम के बर्ताव से गुस्सा गए थे, जिसके बाद उन्होंने गेंदबाज़ को अपना रौद्र रूप दिखाया और एक के बाद एक तीन करारे शॉट जड़कर विपक्षी टीम में मुंह पर ताले जड़ दिए। बता दें कि इससे पहले अंपायर को भी स्टीव वॉ और ब्रायन लारा के बीच मामले को सुलझाने के लिए आना पड़ा था। यह मुकाबला वेस्टइंडीज ने जीता था।

एंड्रयू फ्लिंटॉफ और युवराज सिंह (2007)

स्लेजिंग से जुड़े किस्सों की बात हो और एंड्रयू फ्लिंटॉप और युवराज को कोई भूला दे ऐसा मुमकिन नहीं है।

साल 2007, वर्ल्ड क्रिकेट को यह पता चल गया था कि युवराज सिंह से पंगा लेना किसी भी दिन खुद की शामत को दावत देने जैसा है। दरअसल, टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान एंड्रयू फ्लिंटॉफ युवराज की विस्फोटक बल्लेबाज़ी को देखकर भौखला गए थे। ऐसे में फ्लिंटॉप ने युवी को स्लेज करने की बेहद भारी गलती कर दी।

इसके बाद जो हुआ वह भारत और इंग्लैंड का बच्चा-बच्चा जानता है। युवराज ने फ्लिंटॉफ के मुंह पर ताले जड़ने के लिए स्टुअर्ट ब्रॉड के ओवर में एक के बाद एक लगातार छह छक्के जड़ दिए थे।  


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now