X close
X close
Indibet

जब एक लड़की ने बचाई थी गांगुली की ज़ान, घूसे और लात मारने के बाद गुंडों ने कान पर रखी थी बंदूक

Shubham Sharma
By Shubham Sharma
May 25, 2021 • 21:34 PM View: 910

सौरव गांगुली हमेशा सबसे बहादुर भारतीय क्रिकेटरों में से एक माने जाते हैं, लेकिन जब आपके सिर पर बंदूक रख दी जाए, तो बड़े से बड़े बहादुर के पसीने छुटना लाज़मी है और भारत के पूर्व कप्तान के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। .

इयान बॉथम की बीफ़ीज़ क्रिकेट टेल्स में, गांगुली ने इस बारे में बात की कि कैसे एक बार भारत के इंग्लैंड दौरे के दौरान, उनकी जान जाते-जाते बची थी। 'ट्रबल इन इंग्लैंड' शीर्षक वाले अध्याय में, वह इस बारे में बात करते हैं कि कैसे घटना के बाद से, जब भी वह इंग्लैंड का दौरा करते हैं, तो वह हमेशा ट्यूब या बसों से सफर नहीं करते बल्कि अकेले घूमना पसंद करते थे।

Trending


गांगुली अपनी स्टोरी बताते हुए कहते हैं, “हम (नवजोत सिंह सिद्धू और वह) ट्यूब पर चढ़ गए और पिनर की ओर चल पड़े। हमारी गाड़ी में युवा लोगों का एक ग्रुप था, दो लड़के और तीन लड़कियां, और वे शराब पी रहे थे। हम उनके सामने बैठे थे और मैंने देखा कि उनमें से एक अपनी बीयर पीते हुए हमें देख रहा था। मैंने उससे कहा कि मैंने कुछ नहीं कहा, लेकिन सिद्धू कूद गया और उसने उनका सामना किया।"

आगे बोलते हुए दादा ने कहा, "मुझे तब पता था कि कुछ परेशानी होने वाली है। मैंने अपना चश्मा उतार दिया और दूर फर्श पर फेंक दिया, और जो कुछ भी आने वाला था उसके लिए तैयार हो गया। हमारे बीच हाथापाई हुई और जैसे ही हम एक स्टेशन पर पहुंचे, मैंने लड़के को धक्का दिया और वह गिर गया। वह उठा और अगली चीज़ जो मैंने देखी वह मेरे चेहरे पर एक बंदूक थी।"

मैंने सोचा, 'हे मेरे भगवान, इस ट्रेन में मेरा जीवन यहीं खत्म होने वाला है। लेकिन उस दौरान वहां मौजूद लड़कियों में से एक, जिसे गांगुली ने "काफी बड़ा" और "वास्तव में काफी मजबूत" बताया था, ने उस बंदूक वाले लड़के को पकड़ लिया और उसे पीछे धकेल दिया और उस लड़की की वजह से गांगुली अपनी जान बचाने में सफल रहे।"


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo