Advertisement
Advertisement
Advertisement

आकाश दीप ने अपना टेस्ट डेब्यू पिता को किया समर्पित, कहा- उनका सपना था कि मैं जीवन...

भारत के तेज गेंदबाज आकाश दीप ने रांची में इंग्लैंड के खिलाफ चल रहे चौथे टेस्ट में डेब्यू करते हुए छाप छोड़ी।

Nitesh Pratap
By Nitesh Pratap February 23, 2024 • 20:19 PM
आकाश दीप ने अपना टेस्ट डेब्यू पिता को किया समर्पित, कहा- उनका सपना था कि मैं जीवन...
आकाश दीप ने अपना टेस्ट डेब्यू पिता को किया समर्पित, कहा- उनका सपना था कि मैं जीवन... (Image Source: Google)
Advertisement

भारत के तेज गेंदबाज आकाश दीप (Akash Deep) ने रांची में इंग्लैंड के खिलाफ चल रहे चौथे टेस्ट में डेब्यू करते हुए छाप छोड़ी। उन्होंने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 3 विकेट अपनी झोली में डाले। वहीं अपने कठिन समय को याद करते हुए आकाश ने अपना डेब्यू अपने पिता को समर्पित किया। इंग्लैंड ने चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन स्टंप्स तक जो रुट (Joe Root) के शतक की मदद से 90 ओवर में 7 विकेट खोकर 302 रन बना लिए है। 

मैं अपना डेब्यू अपने पिता को समर्पित करता हूं। जब वह जीवित थे तो मैं जीवन में कुछ नहीं कर पाया और उनका सपना था कि मैं जीवन में कुछ अच्छा करूं। इसलिए मैं यह प्रदर्शन और डेब्यू उन्हें समर्पित करता हूं। यह मेरे लिए बहुत इमोशनल था। मैंने एक साल में अपने भाई और पिता को खो दिया। मेरी जर्नी कठिन रही है और मेरे परिवार ने इसमें बड़ी भूमिका निभाई। मेरे पास खाने को कुछ नहीं था, पाने को बहुत कुछ था।"

Trending


आपको बता दे कि आकाश को इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी तीन टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम में पहली बार शामिल किया गया था। तीसरे मैच में उन्हें मौका नहीं मिला लेकिन चौथे गेम के लिए जसप्रीत बुमराह को आराम मिलने से उनके लिए खेल के सबसे लंबे प्रारूप में टीम के लिए डेब्यू करने का मौका मिला गया जिसे उन्होंने अच्छे से भुनाया। आकाश ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 17 ओवर में 70 रन देते हुए 3 विकेट हासिल किये। उन्होंने जैक क्रॉली (42 गेंद में 42), बेन डकेट (21 गेंद में 11) और ओली पोप (0) को आउट किया। 

Also Read: Live Score

आकाश दीप बिहार के सासाराम से आते है और उन्हें क्रिकेट के प्रति दीवानगी बहुत ज्यादा थी। हालांकि उनके पिता को यह पसंद नहीं था। पिता से सपोर्ट ना मिलने के बाद आकाश नौकरी नौकरी ढूंढने का बहाना बनाकर दुर्गापुर (वेस्ट बंगाल) चले गए। आकाश को उनके चाचा ने सपोर्ट किया और उन्होंने वहां एकेडमी में खेलने लगे। उन्होंने वहां अपनी तेज गेंदबाजी से सभी को प्रभावित किया। लेकिन इस दौरान उनके पिता का निधन हो गया। पिता के निधन के 2 महीने बाद आकाश के बड़े भाई का भी निधन हो गया। 


Cricket Scorecard

Advertisement