X close
X close

अर्शदीप के नो बॉल डालने पर गावस्कर ने कहा: एक प्रोफेशनल के तौर पर आप ऐसा नहीं कर सकते

लीजेंड सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह की श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 में मेजबान टीम की 16 रन की पराजय में दो ओवर के स्पैल में पांच नो बॉल डालने की कड़ी आलोचना

IANS News
By IANS News January 06, 2023 • 18:48 PM

लीजेंड सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह की श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 में मेजबान टीम की 16 रन की पराजय में दो ओवर के स्पैल में पांच नो बॉल डालने की कड़ी आलोचना की है।

बीमारी के कारण अर्शदीप मुंबई में पहले मैच में नहीं खेल पाए और पुणे में दूसरे मैच में लौटे लेकिन गेंद के साथ उनका अनुभव खराब रहा। उन्होंने मैच के पहले ओवर में लगातार तीन नो बॉल डालते हुए दो ओवर के स्पैल में 37 रन दे डाले।

Trending


गावस्कर ने प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स के लिए कमेंट्री करते हुए कहा,एक प्रोफेशनल के तौर पर आप ऐसा नहीं कर सकते। हम आमतौर पर सुनते हैं जब खिलाड़ी कहते हैं कि चीजें हमारे नियंत्रण में नहीं थीं। नो बॉल नहीं करना आपके नियंत्रण में है। आपके गेंद डालने के बाद बल्लेबाज क्या करता है, यह अलग बात है। नो बॉल नहीं डालना निश्चित रूप से आपके नियंत्रण में है।

पुणे में खेले गए दूसरे टी20 मैच के 19वें ओवर के दौरान दासुन शनाका ने एक फुलटॉस गेंद को लॉन्ग ऑन की दिशा में मारा और सूर्यकुमार यादव को कैच थमा बैठे। हालांकि भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या ने निराशा व्यक्त करते हुए, इस विकेट का जश्न मनाने की जगह अपने दोनों हाथों से अपने चेहरे को ढक लिया क्योंकि अर्शदीप सिंह की इस गेंद को फ्ऱंटफुट नो बॉल करार दिया गया था।

उस व़क्त शनाका 14 गेंदों में 30 रन बना कर खेल रहे थे। पारी खत्म होने के बाद शनाका का स्कोर 22 गेंदों में 56 रन था। उनकी इस पारी के कारण श्रीलंका की टीम 200 के पार पहुंचने में कामयाब रही। इस मैच में यह अर्शदीप की चौथी नो बॉल थी। घाव पर नमक छिड़कने का काम करते हुए शनाका ने फ्ऱी हिट वाली गेंद को सीमा रेखा के बाहर पहुंचा कर आधा दर्जऩ रन बटोर लिए। दो गेंद बाद अर्शदीप ने एक और नो बॉल फेंकी।

कप्तान हार्दिक ने अर्शदीप को 19वें ओवर तक गेंदबाजी के लिए नहीं बुलाया। अर्शदीप अंतिम के ओवरों में बढ़िया गेंदबाजी करते हैं लेकिन कप्तान ने उनकी जगह पर उमरान मलिक को 18वां ओवर फेंकने के लिए बुलाया। उमरान के पास भले ही अच्छी गति है लेकिन उन्हें अपनी यॉर्कर गेंदों पर काफी काम करना है। उनके पास अच्छी गति है लेकिन अंतिम ओवरों में यही तेज गति उनकी दुश्मन भी बन जाती है। उमरान ने उस ओवर में 21 रन खर्च किए।

अर्शदीप ने इस मैच में कुल पांच नो बॉल फेंकी। ईएसपीएनक्रिकइंफों के पास मौजूद डेटा के अनुसार किसी भी टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में यह किसी भी गेंदबाज के द्वारा फेंकी गयी सबसे ज्यादा नो बॉल थी। शिवम मावी और उमरान ने भी एक-एक नो बॉल फेंकी और कुल मिला कर भारतीय गेंदबाजों ने इस मैच में सात नो बॉल फेंकी।

सिर्फ़ नो बॉल और फ्ऱी हिट के कारण भारत को 27 रन खर्च करने पड़े और उनकी टीम 16 रनों से मैच हार गई।

पहले टी20 के दौरान अर्शदीप बीमार होने के कारण टीम में नहीं थे। इसके अलावा उन्हें अभ्यास करने के लिए भी ज्यादा समय नहीं मिला था। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के बाद से नो बॉल की समस्या ने हमेशा से ही अर्शदीप को काफी परेशान किया है। सिर्फ़ 2022 में अर्शदीप ने 14 फ्ऱंट-फुट नो बॉल फेंकी हैं। सबसे ज्यादा नो बॉल फेंकने के मामले में वह टॉप पर हैं। दूसरे स्थान पर जि़म्बाब्वे के तेज गेंदबाज ब्लेसिंग मुजाराबानी हैं, जिन्होंने पांच नो बॉल फेंकी हैं।

भारतीय टीम के मौजूदा टी20 कप्तान ने भी इस मामले पर चिंता जाहिर की। हार्दिक ने कहा, आप मु़फ्त में नो बॉल नहीं दे सकते। अर्शदीप ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि पिछले कुछ समय से नो बॉल उनके लिए एक समस्या रही है। ऐसा नहीं है कि मैं उन पर किसी तरह का दोषारोपण कर रहा हूं। विश्व क्रिकेट में या किसी भी टी20 क्रिकेट में नो बॉल करना एक अपराध है। इसके लिए उन पर किसी भी तरह से स़ख्त होने की जरूरत नहीं है। हालांकि उन्हें यह देखने की जरूरत है कि इस तरह की बुनियादी गलतियां न की जाए।

वहीं इस मामले पर कोच राहुल द्रविड़ ने कहा, ऐसा कोई गेंदबाज नहीं है जो खुद से नो बॉल फेंकना चाहेगा। हालांकि टी20 क्रिकेट में इससे टीम को काफी नुकसान हो सकता है। हालांकि अगर आप इस टीम को देखें तो इसमें कई युवा खिलाड़ी हैं। वे इस तरह के परिस्थितियों से गुजरेंगे। हम सबको यह समझने की जरूरत है कि इस तरह गलतियां हो सकती हैं।

भारतीय टीम के मौजूदा टी20 कप्तान ने भी इस मामले पर चिंता जाहिर की। हार्दिक ने कहा, आप मु़फ्त में नो बॉल नहीं दे सकते। अर्शदीप ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि पिछले कुछ समय से नो बॉल उनके लिए एक समस्या रही है। ऐसा नहीं है कि मैं उन पर किसी तरह का दोषारोपण कर रहा हूं। विश्व क्रिकेट में या किसी भी टी20 क्रिकेट में नो बॉल करना एक अपराध है। इसके लिए उन पर किसी भी तरह से स़ख्त होने की जरूरत नहीं है। हालांकि उन्हें यह देखने की जरूरत है कि इस तरह की बुनियादी गलतियां न की जाए।

Also Read: SA20, 2023 - Squads & Schedule

This story has not been edited by Cricketnmore staff and is auto-generated from a syndicated feed