X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

पहला T20I: रोमांचक मैच में आखिरी गेंद पर हारा भारत,ये 2 खिलाड़ी बने ऑस्ट्रेलिया की जीत के हीरो

by Saurabh Sharma Feb 24, 2019 • 23:41 PM

विशाखापट्टनम, 24 फरवरी (CRICKETNMORE)| ग्लेन मैक्सवेल (56) की अर्धशतकीय पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को यहां डॉ. वाईएस राजशेखर रेड्डी क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 रोमांचक मैच में भारत को तीन विकेट से हरा दिया। जून-2016 के बाद से पहली बार भारत को लगातार दो टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में हार का सामना करना पड़ा है। वहीं, अपने घर में भारत की आठ मैचों में यह पहली हार है। 

इस जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया ने दो मैचों की टी-20 सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। 

ऑस्ट्रेलिया ने पहले गेंदबाजी करते हुए भारत को सात विकेट पर 126 रन पर रोक दिया और फिर निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। 

भारत से मिले 127 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया ने पांच रन के अंदर ही मार्कस स्टोयनिस (1) और कप्तान एरॉन फिंच (0) का विकेट गंवा दिया। 

हालांकि इसके बाद मैक्सवेल और डी आर्की शॉर्ट ने (37) ने तीसरे विकेट के लिए 84 रन की साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया को जीत के करीब पहुंचा दिया। मैक्सवेल टीम के 89 के स्कोर पर तीसरे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। उन्होंने 43 गेंदों पर छह चौके और दो छक्के लगाए। 

मैक्सवेल के आउट होने के बाद शॉर्ट भी टीम के 101 के स्कोर पर चौथे बल्लेबाज के रूप में प्वेलियन लौटे। उन्होंने 37 गेंदों पर पांच चौके लगाए। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 113 के स्कोर पर लगातार दो विकेट गंवा दिए और ऐसा लगने लगा कि अब वह इस लक्ष्य से दूर रह जाएगी। 

ऑस्ट्रेलिया को आखिरी निर्धारित छह गेंदों पर 14 रन बनाने थे और गेंद अनुभवी गेंदबाज उमेश यादव के हाथों में थी। लेकिन उमेश अपने अनुभव का फायदा नहीं उठा पाए और ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी ओवर में 14 रन बटोरकर रोमांचक जीत अपने नाम कर ली।

मैक्सवेल और शॉर्ट के अलावा अपना पदार्पण टी-20 खेल रहे पीटर हैंड्सकोंब ने 13, एश्टन टर्नर ने शून्य, नाथन कल्टर नाइल ने चार, पैट कमिंस ने नाबाद सात और झाए रिचर्डसन ने नाबाद सात रन बनाए। 

भारत की ओर से भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने तीन और युजवेंद्र चहल तथा क्रुणाल पांड्या ने एक-एक विकेट लिए। 

इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत को सात विकेट पर 126 रन पर रोक दिया और तीन विकेट शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया। 

भारत के लिए लोकेश राहुल ने 50, महेंद्र सिंह धौनी ने नाबाद 29 और कप्तान विराट कोहली ने 24 रन बनाए। 

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। भारत की शुरूआत खराब रही और रोहित शर्मा (5) टीम के 14 रन के स्कोर पर आउट हो गए। 

रोहित के आउट होने के बाद राहुल और कप्तान कोहली ने दूसरे विकेट के लिए 55 रन की साझेदारी कर टीम को मजबूती दी। भारत एक समय 10वें ओवर तक तीन विकेट पर 80 रन बनाकर अच्छी स्थिति में था। 

हालांकि इसके बाद भारतीय अंतिम के 10 आवरों में मात्र 46 रन ही जोड़ पाई और चार विकेट भी गंवा दी, जिसके कारण वह सात विकेट पर 126 रन तक ही पहुंच सकी। 

राहुल ने 36 गेंदों पर छह चौके और एक छक्का लगाया। धोनी ने 37 गेंदों पर एक छक्का और कोहली ने 17 गेंदों पर तीन चौके लगाए। इन तीनों के अलावा और कोई बल्लेबाज दहाई के आंकड़े को भी नहीं छू सका। 

ऑस्ट्रेलिया के लिए नाथन कोल्टर नाइल ने सर्वाधिक तीन और जेसन बेहरनडोर्फ, एडम जम्पा तथा पैट कमिंस ने एक-एक विकेट लिए। 

मैच में 26 रन देकर तीन विकेट लेने वाले नाथन कल्टर नाइल को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।