X close
X close
Indibet

5 दिग्गज क्रिकेटर जो कभी वर्ल्ड कप नहीं खेले, लिस्ट में 2 भारतीय खिलाड़ी

टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण 2003 में विश्व कप टीम में जगह बनाने के करीब थे। लेकिन, ऐसा नहीं हुआ दिनेश मोंगिया को टीम में जगह मिली और उनका सपना अधूरा रह गया।

By Prabhat Sharma July 30, 2022 • 18:47 PM

क्रिकेट खेलने वाले हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वो अपने देश के लिए क्रिकेट खेलने के साथ ही देश के लिए विश्व कप जीते। कुछ ऐसे क्रिकेटर हुए जिन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका ही नहीं मिला लेकिन,कुछ ऐसे भी अनलकी दिग्गज क्रिकेटर रहे हैं जिन खिलाड़ियों का करियर तो शानदार रहा लेकिन वे विश्व कप टीम का हिस्सा नहीं बन सके। इस आर्टिकल में शामिल है 5 दिग्गज क्रिकेटर का नाम जिन्हें विश्वकप खेलने का मौका नहीं मिला।

अजहर अली: पाकिस्तान के दिग्गज दाएं हाथ के बल्लेबाज अजहर अली ने 2010 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू के बाद से अब तक 95 टेस्ट और 53 वनडे मैच खेले हैं। अजहर अली कभी भी पाकिस्तान की विश्वकप टीम में शामिल नहीं हो पाए। अजहर अली के नाम वनडे क्रिकेट में 3 शतक भी हैं।

Trending


चेतेश्वर पुजारा: चेतेश्वर पुजारा 2010 में अपने डेब्यू के बाद से टेस्ट में भारत के लिए नियमित रूप से क्रिकेट खेल रहे हैं। टेस्ट क्रिकेट का दिग्गज होने के बावजूद पुजारा वनडे क्रिकेट में खुदको साबित नहीं कर पाए हैं। पुजारा ने 5 एकदिवसीय मैच खेले। वहीं विश्वकप टीम में उन्हें कभी भी टीम इंडिया में जगह नहीं मिली।

एलेस्टेयर कुक: इंग्लैंड के दिग्गज खिलाड़ी एलेस्टेयर कुक की गिनती महान बल्लेबाजों में होती है। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इंग्लैंड के लिए तीनों फॉर्मेट का हिस्सा होने के बावजूद एलेस्टेयर कुक विश्व कप टीम का हिस्सा नहीं बन सके। 2006 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले कुल ने इंग्लैंड के लिए 161 टेस्ट, 92 एकदिवसीय और 4 टी20 मैच खेले हैं।

वीवीएस लक्ष्मण: दाएं हाथ के स्पेशल बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने 1996 से 2012 तक भारत के लिए 134 टेस्ट और 86 एकदिवसीय मैच खेले लेकिन वो कभी भी विश्व कप टीम में जगह नहीं बना सके। वीवीएस लक्ष्मण ने 86 वनडे मैचों में 6 शतकों की मदद से 30.7 की औसत से 2338 रन बनाए हैं।

यह भी पढ़ें: 5 क्रिकेटर जिनका बचपन हदपार गरीबी में बीता, लिस्ट में 3 भारतीय खिलाड़ी 

मैथ्यू हॉगर्ड: इंग्लैंड के दिग्गज गेंदबाज मैथ्यू हॉगर्ड को कभी भी विश्वकप खेलने का मौका नहीं मिला। 2000 से 2008 की अवधि तक इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेलने वाले दाएं हाथ के इस सीमन ने 280 इंटरनेशनल विकेटों के साथ 67 टेस्ट और 26 एकदिवसीय मैच खेले हैं।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now