X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

दिलचस्प रहा है बेन स्टोक्स का वर्ल्ड कप 2019 में सफर, फाइऩल में किया कमाल

by Vishal Bhagat Jul 16, 2019 • 12:50 PM

16 जुलाई। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने जब हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स को सुपरह्यूमन का तमगा दिया तो उनके शब्दों में बनावट नहीं थी। आईसीसी विश्व कप-2019 के फाइनल में उनका जो प्रदर्शन रहा वो शानदार रहा। साथ ही टीम के फाइनल तक के सफर में उन्होंने अहम योगदान दिया। 

फाइनल में बेहतरीन पारी खेल हीरो बनने वाले स्टोक्स एक साल पहले विलन, कलंक, बिगडैल बच्चा थे। लेकिन मैदान पर उनके प्रदर्शन ने तय कर दिया है कि वह अब राष्ट्रीय हीरो कहलाएंगे। इयान बॉथम के साथ इंग्लैंड के महानतम हरफनमौला खिलाड़ी। 

25 सितंबर 2017 को एक नाइट क्लब के बाहर स्टोक्स के गिरफ्तार होने की खबर आई थी। बाद में कहा गया कि वह सिर्फ दो मासूम लोगों का बचाव कर रहे थे। उस घटना के जो वीडियो सामने आए उसमें पता चला कि वह दो लोगों को पीट रहे थे। इससे उन्हें हालांकि मदद नहीं मिली। 

उन्हें मामले की सुनवाई का फैसला न आने तक टीम से बाहर कर दिया गया था। 11 महीने के बाद स्टोक्स को निर्दोष साबित किया गया था। 

लेकिन रविवार को यह सब बदल गया। उन्होंने एकतरफा अंदाज में इंग्लैंड को फाइनल में ऐतिहासिक जीत दिलाई। मैच के बाद मोर्गन ने स्टोक्स की तारीफ भी की।

मोर्गन ने कहा, "वह जो थे वहां से आना अविश्नवसनीय है। वह लगभग सुपरह्यूमन हैं। वह वाकई टीम का और हमारे बल्लेबाजी क्रम का भार उठाते हैं। मैं जानता हूं जोस बटलर और उनकी साझेदारी बेहतरीन थी, लेकिन निचले क्रम के साथ बल्लेबाजी करना वो भी जिस तरह से उन्होंने की वो अविश्वसनीय था।"

उन्होंने कहा, "माहौल, जो भावनाएं जो पूरे मैच के दौरान चल रही थीं, उन्होंने बेहतरीन तरीके से उन्हें संभाला। हर कोई जो टीवी पर मैच देख रहा होगा वो बेन स्टोक्स जैसा बनना चाहेगा।"

मोर्गन ने टी-20 विश्व कप 2016 का वो फाइनल मैच भी याद किया जिसमें वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्रैथवेट ने स्टोक्स पर चार छक्के मार इंग्लैंड के मुंह से जीत छीन ली थी। 

मोर्गन ने कहा, "हां, मैंने यह कई बार कहा है कि कोलकाता में जो स्टोक्स के साथ हुआ वो किसी और के साथ होता तो कई करियर तबाह हो जाते। स्टोक्स कई मौकों पर अकेले और हमारे साथ भी खड़े रहे। आज का दिन उनका बेहतरीन दिन था और हम इसके लिए उनके शुक्रगुजार हैं।"

साफ तौर पर लॉर्ड्स में जो हुआ उसके बाद काफी संभावनाएं हैं कि स्टोक्स को सर्वश्रेष्ठ हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर याद किया जाएगा।