X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

इस कारण कप्तानी में किया गया बदलाव, अफगानिस्तान के मुख्य मुख्य चयनकर्ता ने खोला राज

by Vishal Bhagat May 07, 2019 • 16:38 PM

7 मई। इंग्लैंड में इसी महीने से शुरू हो रहे विश्व कप से एक महीने पहले टीम के नेतृत्व में बदलाव करने पर अफगानिस्तान क्रिकेट संघ (एसीबी) के मुख्य चयनकर्ता दौलत खान अहमदजाई ने मंगलवार को कहा कि कप्तान बदलने का फैसला प्रबंधन का था और इस फैसले का मकसद 2023 में होने वाले विश्व कप के लिए भावी कप्तान को तैयार करना था।

अफगानिस्तान ने बीते महीने असगर स्टानिकजाई को हटा कर गुलबदीन नैब को वनडे टीम की कमान सौंपी है और विश्व कप में टीम गुलबदीन के नेतृत्व में ही खेलेगी। 

अफगानिस्तान क्रिकेट लीग और अमूल के साथ हुए करार की घोषणा के मौके पर भारत की राजधानी में आए अहमदजाई ने कहा कि शीर्ष प्रबंधन को लगा कि वह असगर के साथ इस बार को विश्व कप नहीं जीत सकते और इसलिए अगले विश्व कप को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कप्तानी में बदलाव किया ताकि गुलबदीन को आने वाले वक्त के लिए अनुभव मिल सके। 

अहमदजाई ने यहां संवाददाताओं से कहा, "यह शीर्ष प्रबंधन द्वारा लिया गया फैसला था। हमें लगता है कि हम असगर स्टानिकजाई के साथ हम इस समय विश्व कप नहीं जीत सकते थे। हमें लगता है कि यह एक नए कप्तान को आगे लाने का सही मौका था। हम एक प्रक्रिया से गुजर रहे हैं, जिसमें इस तरह का बदलाव अनिवार्य हो गया था।"

उन्होंने अपनी बात को तर्क देते हुए आगे बताया, "कोई भी कप्तान अफगानिस्तान को इस समय विश्व कप नहीं दे सकता, लेकिन हम अगले चार साल को भी देख रहे थे। 10 मैच हमें पूल मेम्बर के साथ खेलने हैं। इसमें अगले चार साल के लिए एक कप्तान तैयार होगा। इसलिए हमने गुलबदीन को मौका दिया। गुलबदीन ने पहले भी कप्तानी की है। वह प्रथम श्रेणी के अलावा अंडर-19 में भी कप्तान रहे हैं।" 

इस फैसले के बाद हालांकि टीम के दो अहम खिलाड़ियों युवा राशिद खान और अनुभवी मोहम्मद नबी ने बोर्ड के इस कदम की आलोचना की थी और ट्विटर के माध्यम से अपनी बात रखते हुए विश्व कप से पहले कप्तान बदलने की बात पर गुस्सा जाहिर किया था। 

इन दोनों की प्रतिक्रियाओं पर अहमदजाई ने कहा, "मोहम्मद नबी और राशिद ने जो कहा, वह उनकी निजी राय थी। हमने उस मामले को बहुत पेशेवर तरीके से निपटाया है। यह ज्यादा गंभीर मुद्दा नहीं रह गया। अब वह दोनों खुश हैं। गुलबदीन नए नहीं हैं। वह 17 साल से क्रिकेट खेल रहे हैं। वह नबी के अच्छे दोस्त हैं।"

अहमदजाई ने कहा कि उनकी टीम का लक्ष्य सेमीफाइनल में जगह बनाना है। उन्होंने कहा, "2015 में हमारी टीम में राशिद खान और मुजीब-उर-रहमान नहीं थे। इस बार हमें इन दोनों से काफी उम्मीदें हैं। हमारा लक्ष्य सेमीफाइनल में जगह बनाना है। हमारी टीम की कमियों की बात है तो हम बीते छह महीनों से उस पर काम कर रहे हैं। हमारा ध्यान स्थितियों पर भी है और विपक्षी टीमों पर भी है। हम पूरी तरह से तैयार हैं। आप विश्व कप में अफगानिस्तान को एक अलग टीम देखोगे। हम एक अलग प्रदर्शन करने के लिए विश्व कप में आ रहे हैं।"

मुख्य चयनकर्ता ने कहा कि टीम राशिद, नबी और मुजीब की तिकड़ी पर ही निर्भर नहीं है बल्कि तेज गेंदबाजी में उनके पास अच्छे नाम हैं और उनकी बल्लेबाजी भी अच्छी है। 

उन्होंने कहा, "हमीद हसन एक अच्छे तेज गेंदबाज हैं। वह अफगानिस्तान के लिए हमेशा से अच्छे गेंदबाज रहे हैं। राशिद और मुजीब भी हैं, लेकिन हम सिर्फ इन दोनों पर निर्भर नहीं हैं। हमारी टीम ने हालिया दौर में अच्छा प्रदर्शन किया है। हम एक टीम के तौर पर अच्छा करेंगे। हमारी बल्लेबाजी भी कभी कमजोर नहीं रही, लेकिन हमें अपनी बल्लेबाजी को थोड़ा क्रमबद्ध करना है ताकि अच्छा कर सकें।"

अहमदजाई ने विश्व कप में अपनी पसंदीदा टीमों में भारत, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया का नाम लिया।