X close
X close
Indibet

ICC ने ब्रेंडन टेलर को सुनाई बड़ी सजा, लगाया इतने साल का बैन

ज़िम्बाब्वे के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर पर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने  बैन लगा दिया है। टेलर अब साढ़े तीन साल तक किसी तरह का क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे। आईसीसी ने शुक्रवार को एक प्रेस रिलीज जारी...

By Saurabh Sharma January 28, 2022 • 22:46 PM View: 847

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर को क्रिकेट से साढ़े तीन साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। टेलर ने आईसीसी एंटी करप्शन कोड के चार आरोपों के साथ ही एंटी-डोपिंग कोड से जुड़े एक अन्य आरोप को भी स्वीकार किया है। आईसीसी ने कहा कि डोपिंग के लिए टेलर पर अधिकतम एक महीने का प्रतिबंध लगेगा, जो साढ़े तीन वर्षो के निलंबन के साथ-साथ चलेगा।

टेलर ने 2004-2021 के बीच 284 इंटरनेशनल मैचों में जिम्बाब्वे का प्रतिनिधित्व किया, जिसमें उन्होंने 17 शतकों के साथ 9,938 रन बनाए। उन्होंने पिछले साल इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

Trending


आईसीसी ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि टेलर न केवल प्रस्ताव का खुलासा करने में विफल रहे, बल्कि उन्होंने कथित भ्रष्टाचारियों से उपहार और नकद लिया था।

एक आरोप के अनुसार टेलर (बिना अनावश्यक देरी के) एंटी करप्शन यूनिट (एसीयू) को श्रीलंका और बांग्लादेश के खिलाफ जिम्बाब्वे की आगामी सीरीज में भ्रष्टाचार में शामिल होने के मिले प्रस्ताव का खुलासा करने में विफल रहे थे।

टेलर पर एसीयू जांच में बाधा डालने या देरी करने का भी आरोप लगाया गया। इसमें किसी भी दस्तावेज या अन्य जानकारी को छुपाना, उस जांच से जुड़े सबूत के साथ छेड़छाड़ करके उसे नष्ट करना शामिल है।

आईसीसी ने बताया कि डोपिंग का आरोप आठ सितंबर 2021 को आयरलैंड और जिम्बाब्वे के विरुद्ध मैच के दौरान किए गए टेस्ट के बाद लगाया गया। आईसीसी के एंटी डोपिंग कोड के तहत टेलर ड्रग्स के लिए पॉजिटिव पाए गए थे।

ब्रेंडन टेलर ने सोमवार को एक बयान जारी किया, जिसमें उन्होंने कई गंभीर खुलासे किए थे। ब्रेंडन टेलर के मुताबिक उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के लिए अप्रोच किया गया था, जिसका आरोप उन्होंने किसी भारतीय बिजनेसमैन पर लगाया था। इसके अलावा ब्रेंडन टेलर ने बताया था कि उन्हें कोकीन भी दी गई थी, जिसके बाद वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल किया गया। इसके अलावा टेलर ने बताया कि अपने वह अंतिम इंटरनेशनल मैच में पकड़े जाने से पहले वह कई वर्षो तक ड्रग्स टेस्ट में बचते रहे।

आईसीसी की जांच समाप्त होने से पहले, पूर्व क्रिकेटर ने सोशल मीडिया पर एक व्यक्तिगत बयान जारी किया जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के लिए जमा राशि के रूप में 15,000 अमेरिकी डॉलर दिए गए थे और कहा था कि काम होने के बाद उन्हें एक और 20,000 डॉलर का भुगतान किया जाएगा।
 

IB

Win Big, Make Your Cricket Prediction Now