Advertisement
Advertisement

‘30 KM दूर मुझे क्रिकेट कैंप लेकर जाते थे’- इमोशनल मोहम्मद शमी ने 200 विकेट के बाद मरहूम पिता को किया याद

मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने बतौर टेस्ट क्रिकेटर अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता और भाई को दिया है। उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के सहसपुर अली नगर गांव से तालुक्क रखने वाले शमी ने कहा कि आज वो जो

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma December 29, 2021 • 12:22 PM
 If I'm here today, the credit goes to my brother and father says Mohammed Shami
If I'm here today, the credit goes to my brother and father says Mohammed Shami (Image Source: Twitter)
Advertisement

मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने बतौर टेस्ट क्रिकेटर अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता और भाई को दिया है। उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के सहसपुर अली नगर गांव से तालुक्क रखने वाले शमी ने कहा कि आज वो जो भी हैं, उसका पूरा श्रेय उनके पिता और भाई को जाता है। 

शमी ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 200 विकेट पूरे करने के बाद यह बात कही। सेंचुरियन में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन साउथ अफ्रीका की पहली पारी में कागिसो रबाडा को आउट कर शमी ने अपने 200 टेस्ट विकेट पूरे किए। पहली पारी में शानदार गेंदबाजी करते हुए शमी ने 16 ओवर में सिर्फ 44 रन देकर 5 विकेट हासिल किए।

Trending


शमी ने प्रेस कॉफ्रेंस में कहा, " बहुत बार मैं मीडिया में बोल चुका हूं,मैं अपने पापा को श्रेय देना चाहता हूं। मैं एक ऐसे गांव से हूं जहां आज तक कोई सुविधा नहीं है। मेरे पापा मुझे कह-कहकर वहां से 30 किलोमीटर दूर क्रिकेट कैंप के लिए भेजते थे और मेरे साथ भी जाते थे। मुझे वह संघर्ष हमेशा याद रहता है, इसलिए मैं हमेशा अपने पापा और भाई को श्रेय देता हूं। जिन्होंने मुझे सपोर्ट किया है, मुझे उन हालातों में खेल खिलाया। मैं आज यहां हूं तो इसका श्रेय उनको जाता है।”

वह 200 या अधिक विकेट लेने वाले 11वें भारतीय गेंदबाज हैं और इस मुकाम तक पहुंचने वाले केवल पांचवें तेज गेंदबाज हैं। शमी फिलहाल कपिल देव (434), इशांत शर्मा (311), जहीर खान (311) और जवागल श्रीनाथ (236) से पीछे हैं।

Also Read: Ashes 2021-22 - England vs Australia Schedule and Squads

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने दूसरी पारी में 1 विकेट के नुकसान पर 16 रन बनाए, जिससे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में मजबूत पकड़ बनाते हुए 146 रनों की बढ़त बना ली। दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 197 रनों पर ऑलआउट करने के बाद, भारत ने 130 रनों की बढ़त के साथ आगे खेलते हुए दूसरी पारी में जल्द ही अपना पहला विकेट खो दिया, जब मयंक अग्रवाल (4) रन बनाकर मार्को जेनसेन की गेंद पर डी कॉक को कैच थमा बैठे।
 

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement