X close
X close
Indibet

AUS vs IND: 3 सबसे बड़ी गलतियां जिसके कारण एडिलेड टेस्ट में टीम इंडिया को मिली शर्मनाक हार

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma
December 19, 2020 • 15:15 PM View: 830

India vs Australia 1st Test Day 3: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड टेस्ट मैच के दौरान कुछ ऐसा देखने को मिला जिसकी शायद ही किसी ने उम्मीद की हो। दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद भारतीय टीम ने मैच में मजबूत पकड़ बना ली थी लेकिन तीसरे दिन के खेल के दौरान जो कुछ भी हुआ उसने सभी को हैरान कर दिया। भारतीय टीम अपनी दूसरी पारी में महज 36 रन ही बना सकी।

पहली पारी में 53 रन की लीड के चलते ऑस्ट्रेलिया को यह टेस्ट मैच जीतने के लिए महज 90 रनों की जरूरत थी जिसे कंगारूओं ने बिना किसी दिक्कत के हासिल कर लिया। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से उन 3 गलतियों को बारिकी से समझने की कोशिश करेंगे जिसके चलते  एडिलेड टेस्ट में टीम इंडिया को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है।

Trending



1) विराट कोहली का रनआउट: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पहली पारी के दौरान 74 रनों की पारी खेली थी। विराट कोहली जबरदस्त फॉर्म में नजर आ रहे थे लेकिन दुर्भाग्यवश वह रन आउट हो गए। नाथन लायन की गेंद पर अजिंक्य रहाणे ने बॉल खेलते ही रन के लिए कॉल की। रहाणे की कॉल पर विराट कोहली बिना गेंद देखे रन चुराने के लिए भाग निकले। कुछ ही पल में रहाणे को यह एहसास हुआ कि उन्होंने गलत कॉल की है जिसके बाद उन्होंने विराट को वापस क्रीज पर जाने के लिए कह दिया। अजिंक्य रहाणे के इस मिस जजमेंट के चलते टीम इंडिया को गहरा धक्का लगा था।   

2) ऑस्ट्रेलियाई पुछल्ले बल्लेबाजों को आउट करन में नाकाम रहे भारतीय गेंदबाज: इस टेस्ट मैच की पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 111 रन पर ऑस्ट्रेलिया के 7 विकेट गिरा दिए थे। एक पल तो ऐसा लग रहा था कि टीट इंडिया 150 से पहले बड़े आराम से कंगारूओं को ऑलआउट कर देगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अंतिम 3 विकेट रहते हुए 80 रन और जोड़ दिए यह 80 रन भारतीय टीम को इस टेस्ट मैच के दौरान काफी चुभे थे।

3) खराब फील्डिंग: टेस्ट मैच के दूसरे दिन भारतीय फिल्डरों ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के कई कैच छोड़े। अगर फिल्डर कैच पकड़ने में कामयाब होते तो ऑस्ट्रेलियाई टीम को आसानी से 191 रनों से पहले ऑलआउट किया जा सकता था। भारतीय फिल्डरों ने कई कैच गिराए। कप्तान पेन को भी जीवनदान मिला जब मयंक अग्रवाल ने उनका आसान सा कैच छोड़ दिया। इसके बाद पेन ने नाबाद 73 रनों की पारी खेली। साहा ने बुमराह की गेंद पर मिचेल स्टार्क का कैच छोड़ा इसके अलावा मार्नश लाबुशेन को भी 12 और 21 रनों पर दो जीवनदान मिले जो भारतीय टीम को काफी खला था।


 
Article