X close
X close
Indibet

IPL 2020: दिल्ली कैपिटल्स  के खिलाफ खाता खोलना चाहेगी सनराइजर्स हैदराबाद, देखिए दोनों टीमों का प्लेइंग इलेवन

Shubham Shah
By Shubham Shah
September 28, 2020 • 17:00 PM View: 949

आईपीएल के 13वें संस्करण में मंगलवार को सनराइजर्स हैदराबाद का सामना बेहतरीन फॉर्म में चल रही दिल्ली कैपिटल्स से होगा। शेख जायेद स्टेडियम में खेले जाने वाले इस मैच में दिल्ली की कोशिश जीत की हैट्रिक लगाने की होगी और हैदराबाद की कोशिश हार की हैट्रिक रोकने की। दिल्ली एक ओर जहां बेहतरीन प्रदर्शन कर रही ही, वहीं हैदराबाद को अभी तक अपनी पहली जीत का इंतजार है। यह मैच भारतीय समयनुसार शाम 7:30 बजे से खेला जाएगा।

 

Trending


दिल्ली कैपिटल्स की मजबूती व कमजोरी

दिल्ली अपने पिछले दोनों मैच जीती है और हैदराबाद हारी है। दिल्ली के अभी तक दो मैचों में लगभग सब कुछ सही रहा है। पहले मैच में किस्मत दिल्ली के साथ थी, इसलिए किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ सुपर ओवर में जीत उसके हिस्से आई थी। दूसरे मैच में उसने अपने उम्दा प्रदर्शन से चेन्नई सुपर किंग्स को मात दी थी।

चेन्नई के खिलाफ युवा पृथ्वी शॉ का बल्ला चला था और उन्होंने अर्धशतक जमाया था। शिखर धवन, ऋषभ पंत और कप्तान श्रेयस अय्यर ने भी अच्छी पारियां खेली थीं। दिल्ली का बल्लेबाजी क्रम जिस तरह का है, उससे बड़ा स्कोर दूर नहीं लगता है और बहुत संभव है कि हैदराबाद के खिलाफ दिल्ली के स्कोरबोर्ड पर बड़ा स्कोर देखने को मिल जाएं।

शॉ ने पिछले मैच में 43 गेंदों पर 64 रन बनाए थे। धवन, अय्यर और पंत ने रन तो किए थे लेकिन उस अंदाज में नहीं जिसके लिए वे जाने जाते हैं। इस मैच में दिल्ली चाहेगी की उसके यह तीनों बल्लेबाज खासकर पंत अपनी पुरानी लय में लौटे।

गेंदबाजी में दिल्ली बेहद मजबूत नजर आ रही है। कैगिसो रबादा, एनरिक नोर्टजे ने पिछले मैच में भी अच्छा किया था। अक्षर पटेल और अमित मिश्रा भी प्रभावी रहे थे। रविचंद्रन अश्विन की क्या स्थिति है। इस पर अभी तक कुछ पता नहीं चला है। अगर अश्विन आते हैं तो अमित मिश्रा को बाहर जाना पड़ सकता है।

सनराइजर्स हैदराबाद की मजबूती व कमजोरी

हैदराबाद को अगर जीत चाहिए तो उसे अपने बल्लेबाजी क्रम की मुश्किलों को सुलझाना होगा। जॉनी बेयरस्टो, डेविड वार्नर और कुछ हद तक मनीष पांडे के बाद टीम के पास कोई ऐसा बल्लेबाज नहीं है, जो टी-20 प्रारूपों की जरूरत को पूरा कर तेजी से रन बना सके।

बीते दोनों मैचों में हैदराबाद को यही कमी ले डूबी है। वार्नर, बेयरस्टो चल जाते हैं तो टीम का स्कोर अच्छा रहता है लेकिन यह दोनों अगर जल्दी आउट हो गए तो टीम के लिए सम्मानजनक स्कोर बनाना भी मुश्किल होता है।

मोहम्मद नबी कुछ हद तक तेजी दिखा सकते हैं लेकिन हैदराबाद को आंद्रे रसेल, कीरन पोलार्ड जैसे किसी खिलाड़ी की जरूरत है। प्रियम गर्ग, रिद्धिमाना साहा, अभिषेक शर्मा यह रोल नहीं निभा पा रहे हैं और न ही इनके पास वो अनुभव है जो टीम को निचले क्रम में चाहिए। यहीं हैदराबाद को काम करने की जरूरत है।

जहां तक गेंदबाजी की बात है तो यहां हैदराबाद कुछ भी कर सकती है। उसके पास कम स्कोर को भी बचाने की काबिलियत है। भुवनेश्वर कुमार तेज गेंदबाजी आक्रामण की धुरी हैं। संदीप शर्मा उनका अच्छा साथ देते हैं।

स्पिन में टीम के पास राशिद खान जैसा स्पिनर है और अगर टीम बदलाव नहीं करती है तो मोहम्मद नबी भी गेंद से अहम रोल निभा सकते हैं। टीम संयोजन पर भी हैदराबाद को काम करना पड़ेगा।


दोनों टीमों का सभांवित प्लेइंग इलेवन:

दिल्ली कैपिटल्स -

पृथ्वी शॉ, शिखर धवन, श्रेयस अय्यर (कप्तान), शिमरोन हेटमायर/एलेक्स कैरी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), मार्कस स्टोइनिस, अक्षर पटेल, अमित मिश्रा, कगिसो रबाडा, एनरिक नार्टजे, अवेश खान

सनराइजर्स हैदराबाद -

डेविड वॉर्नर (कप्तान), जॉनी बेयरस्टो, मनीष पांडे, प्रियम गर्ग / विराट सिंह, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), मोहम्मद नबी, अभिषेक शर्मा, राशिद खान, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, टी नटराजन
 


 
Article