X close
X close

IPL 2021 से पहले केकेआर से बाहर हो सकते है ये 3 बड़े खिलाड़ी, दूसरा नाम कर सकता है हैरान

By Shubham Shah
Nov 15, 2020 • 17:57 PM

कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए आईपीएल 2020 के सीजन में कुछ भी सही नहीं रहा। पहले टीम के कप्तान दिनेश कार्तिक ने बीच टूर्नामेंट में ही टीम को बागोडोर छोड़ दी तो वहीं दूसरी तरफ टूर्नामेंट के अंत में इन्हें प्लेऑफ के लिए दूसरी टीमों पर आश्रित रहना पड़ा और आखिरकार इन्होंने टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता देखा। साल 2021 से पहले टीम कुछ अहम बदलाव के साथ उतरना चाहेगी और ऐसे में वो टीम से इस साल फीका प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखा सकती है।

1) दिनेश कार्तिक

Also Read: मिकी आर्थर ने कहा, Lanka Premier League से श्रीलंका क्रिकेट को मदद मिलेगी

Image

आईपीएल 2020 की शुरुआत में यह खिलाड़ी टीम का कप्तान था लेकिन लगातार अपने बल्लेबाजी में फेल होने के कारण इन्होंने बीच टूर्नामेंट में ही केकेआर की कप्तानी छोड़ दी और बदले में इयोन मोर्गन को टीम का कप्तान बनाया गया।

इस सीजन की बात करे तो कार्तिक के बल्ले से 14 मैचों में केवल 169 रन निकले। एक या दो मैचों को छोड़ दिया जाएं तो पूरे सीजन में यह विकेटकीपर बल्लेबाज फीका रहा। कार्तिक टीम के लिए चौथे स्थान पर बल्लेबाजी करते थे लेकिन हर मैच में जब टीम को इनकी जरूरत हुई तब यह बल्लेबाज फेल हो गया। ऐसे में यह कहना मुश्किल है कि क्या यह विकेटकीपर बल्लेबाज अगले सीजन में भी टीम को अपनी सेवाएं दे पाएगा।

2) सुनील नरेन

Image

वेस्टइंडीज के इस मिस्ट्री स्पिनर ने जब अपने आईपीएल करियर की शुरुआत की थी तो इनको खेलना बल्लेबाजों के लिए मुश्किल होता था लेकिन पिछले कुछ सालों में इनके प्रदर्शन में गिरावट आई है।

आईपीएल 2020 में नरेन 10 मैचों में केवल 5 विकेट ही चटका पाए और इस साल इनकी इकॉनमी भी 8 के आसपास रही। इसके अलावा नरेन के गेंदबाजी एक्शन पर भी बहुत बार सवाल उठे है जिसके कारण इन्हें कुछ मैचों में बाहर भी बैठना पड़ा था।

नरेन जो कि टी-20 में शुरू के ओवरों में ठीक-ठाक बल्लेबाजी भी कर लेते है उन्हें केकेआर की टीम ने इस साल भी ओपनिंग में इस्तेमाल किया लेकिन इस बार वो तेज गेंदबाजों के बाउंसर के सामने बिल्कुल बेबस नजर आए। आईपीएल-13 में नरेन सिर्फ 121 रन ही बना पाएं। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि आईपीएल 2021 से पहले केकेआर मैनेजमेंट इनके ऊपर एक बड़ा फैसला ले सकती है।


3) कुलदीप यादव

Image

यह युवा चाइनामैन गेंदबाज पिछले दो आईपीएल सीजन में केकेआर की टीम के लिए बिल्कुल फ्लॉप रहा है। साल 2019 में जहां कुलदीप 9 मैचों में केवल 4 विकेट ही चटका पाएं थे तो वहीं आईपीएल 2020 में इन्हें सिर्फ 5 मैचों में प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया जिसमें ये केवल एक विकेट ही हासिल कर पाएं।
केकेआर की टीम में वरुण चक्रवर्ती के आने से अब कुलदीप को आने वाले सालों में प्लेइंग इलेवन में जगह बनाना काफी मुश्किल होगा।