Advertisement
Advertisement

जय शाह का सनसनीखेज खुलासा, बताया- ईशान और अय्यर को किसकी वजह से नहीं मिला सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट?

ईशान किशन और श्रेयस अय्यर बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट का हिस्सा नहीं हैं लेकिन अब जय शाह ने बताया है कि आखिर उन्हें कॉन्ट्रैक्ट नहीं देने का फैसला किसने लिया था।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav May 10, 2024 • 14:51 PM
 जय शाह का सनसनीखेज खुलासा, बताया- ईशान और अय्यर को किसकी वजह से नहीं मिला सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट?
जय शाह का सनसनीखेज खुलासा, बताया- ईशान और अय्यर को किसकी वजह से नहीं मिला सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट? (Image Source: Google)
Advertisement

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कई सवालों के जवाब दिए। कुछ महीने पहले केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों की सूची से ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को बाहर कर दिया गया था और अब जय शाह ने इस सवाल का भी जवाब दिया है। शाह ने ये बताया है कि ये उनका फैसला नहीं बल्कि चयन समिति के अध्यक्ष अजीत अगरकर का फैसला था और उनके कहने पर ही ये फैसला लिया गया।

बीसीसीआई के आदेश के बावजूद घरेलू टूर्नामेंट्स में शामिल नहीं होने के कारण किशन और अय्यर को बीससीीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट्स से बाहर कर दिया गया। किशन ने पिछले साल वनडे वर्ल्ड कप के बाद एक लंबा ब्रेक लिया और आईपीएल तक अनुपलब्ध रहे। वहीं, अय्यर ने मुंबई के लिए कुछ रणजी ट्रॉफी मैच खेले, जिनमें सेमीफाइनल और फाइनल शामिल थे। हालांकि, जब ये पता चला कि उन्होंने मुंबई में केकेआर शिविर में उस समय भाग लिया था, जब उनकी घरेलू टीम रणजी ट्रॉफी मैच खेल रही थी, तो अय्यर को परेशानी का सामना करना पड़ा।

Trending


अब जय शाह ने गुरुवार को बीसीसीआई मुख्यालय में मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, "आप संविधान की जांच कर सकते हैं। मैं सिर्फ (चयन बैठक का) संयोजक हूं। ये निर्णय अजीत अगरकर का है, भले ही ये दो खिलाड़ी (ईशान किशन और श्रेयस अय्यर) जो घरेलू क्रिकेट नहीं खेलते थे, उन्हें (केंद्रीय अनुबंध सूची से) बाहर करने का निर्णय केवल उनका था। मेरी भूमिका सिर्फ इतनी है कि मैंने इसे लागू किया और हमें संजू (सैमसन) जैसे नए खिलाड़ी भी मिल गए हैं, कोई भी अपरिहार्य नहीं है।"

इन दोनों खिलाड़ियों के अनुबंध रद्द होने से पहले के दिनों में, जय शाह ने इस साल फरवरी में भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट से पहले कहा था कि वो भारतीय कप्तान और टीम प्रबंधन की आवश्यकताओं को पूरा नहीं करने वाले खिलाड़ियों के खिलाफ कार्रवाई करने के मुख्य चयनकर्ता के फैसले का पूरा समर्थन करेंगे। घरेलू क्रिकेट में भागीदारी के लिए शाह ने दावा किया कि उन्होंने खिलाड़ियों को हटाने के बाद उनसे बातचीत की।

Also Read: Live Score

उन्होंने कहा, "हां, मैंने उनसे बात की थी। मीडिया ने भी खबरें चलायी थीं। यहां तक कि हार्दिक (पांड्या) ने भी कहा कि अगर बीसीसीआई सफेद गेंद के लिए मेरे बारे में विचार कर रहा है, तो मैं विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेलने के लिए तैयार हूं। किसी भी खिलाड़ी को खेलना होगा, भले ही वो नहीं चाहते हों, उन्हें खेलना होगा। जो भी आईपीएल में अच्छा खेलता है। जैसे ईशान किशन कहते हैं, उसे भारतीय टीम के साथ भाग लेने में कठिनाई होती है लेकिन वो एक खिलाड़ी के रूप में मुंबई इंडियंस में खेल सकता है। वहां वो आराम से खेल सकता है। टीम इंडिया में, आपको खुद को साबित करना होगा, बैक टू बैक प्रदर्शन करना होगा। जो इसे संभाल सकता है उसे एक सही खिलाड़ी कहा जा सकता है।"


Cricket Scorecard

Advertisement