X close
X close

IPL 2020: केकेआर ने रोका राजस्थान रॉयल्स की जीत का रथ,मावी और नागरकोटी बने जीत के हीरो

By Saurabh Sharma
Oct 01, 2020 • 00:17 AM

कोलकाता नाइट राइडर्स ने बुधवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें संस्करण में राजस्थान रॉयल्स के विजयी रथ को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में रोक दिया। (00:05)  पहले बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता ने राजस्थान के सामने 175 रनों की चुनौती रखी। पिछले दो मैचों में राजस्थान ने जिस तरह का प्रदर्शन किया था उसे देखकर बहुत मुमकिन था कि राजस्थान जीत की हैट्रिक लगा दे, लेकिन दिनेश कार्तिक की बेहतरीन कप्तानी ने राजस्थान को 20 ओवरों में नौ विकेट पर 137 रनों पर रोक दिया और कोलकाता ने 37 रनों से यह मुकाबला जीता।

कोलकाता की जीत के नायक उसके दो युवा गेंदबाज शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी रहे। मावी ने चार ओवरों में 20 रन देकर दो विकेट लिए।. नागरकोटी ने चार ओवरों में सिर्फ 13 रन खर्च कर दो विकेट चटकाए।

Also Read: दिलीप वेंगसरकर ने कहा, विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर IPL 2020 जीतने की प्रबल दावेदार

चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का सामना करने उतरी राजस्थान ने दूसरे ओवर में कप्तान स्टीव स्मिथ (3) का विकेट गंवा दिया। पैट कमिंस ने हिस्से स्मिथ का विकेट आया।

संजू सैमसन इस मैच में आठ रन से निजी योग से आगे नहीं जा पाए। मावी की गेंद पर सुनील नरेन ने उनका कैच पकड़ा। मावी ने ही बटलर (21) को आउट कर राजस्थान का तीसरा विकेट गिरा दिया।

मावी के साथी नागरकोटी ने राजस्थान के एक और अनुभवी बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (2) को आउट कर दिया। युवा रियान पराग (1) भी नागरकोटी का शिकार हो गए।

पिछले मैच में एक ओवर में पांच छक्के मारने वाले राहुल तेवतिया (14) भी आज कुछ नहीं कर पाए। वरुण चक्रवर्ती ने उन्हें बोल्ड कर दिया।

यहां से कोलकाता की जीत सिर्फ औपचारिकात मात्र रह गई थी। अंत में जरूर टॉम कुरैन ने लड़ाई लड़ी जिसमें वो अकेले रहे। कुरैन ने इस आईपीएल का अपना पहला अर्धशतक जमाया। उन्होंने 35 गेंदों पर 54 रन बनाए। उन्होंने दो चौकों के अलावा तीन छक्के लगाए।

इससे पहले कोलकाता ने शुभमन गिल के साथ एक बार फिर पारी की शुरुआत के लिए नारायण को भेजा। नारायण को उथप्पा ने तीसरे ओवर की पांचवी गेंद पर जीवनदन दे दिया। इस समय गेंदबाज जयदेव उनादकट थे। उनादकट ने हालांकि पांचवें ओवर की पांचवीं गेंद पर नारायण को बोल्ड कर दिया। इससे पहले दो गेंदों पर नारायण ने एक चौका और एक छक्का जड़ा था। इन्हीं की मदद से नारायण ने 15 रन बनाए।

पहला विकेट जल्द गिर जाने के बाद एक बार फिर दबाव गिल और नीतीश राणा पर था। दोनों ने कोशिश की और कुछ हद तक सफल भी रहे। राणा (22) हालांकि पैर जमाने के बाद अपने रंग में लौटते तभी तेवतिया ने उन्हें पराग के हाथों कैच कराया।

आंद्रे रसेल मैदान पर आ चुके थे और इसलिए स्मिथ ने जोफ्रा आर्चर को बुलाया। आर्चर, रसेल को आउट तो नही कर पाए लेकिन गिल (47 रन, 34 गेंद, 5 चौके, 1 छक्का) को आउट जरूर कर दिया।

आर्चर ने ही दिनेश कार्तिक (1) को अपना शिकार बनाया। रसेल के जाने के बाद टीम को एक मजबूत स्कोर देने का दारोमदार इयोन मोर्गन (नाबाद 34 रन, 23 गेंद, 2 छक्के) पर था। इंग्लैंड की वनडे और टी-20 टीम के कप्तान ने ज्यादा तेजी से तो रन नहीं बनाए, लेकिन अंत तक खड़े होकर टीम को 20 ओवरों में छह विकेट खोकर 174 रनों के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक जरूर पहुंचा दिया।