X close
X close

IPL 2020: लॉकी फर्ग्यूसन की घातक गेंदबाजी से केकेआर ने रचा इतिहास, पहली बार सुपर ओवर में जीती

By Saurabh Sharma
Oct 18, 2020 • 20:47 PM

कोलकाता नाइट राइडर्स ने रविवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में शेख जाएद स्टेडियम में खेले गए मैच में सानराइजर्स हैदराबाद को सुपर ओवर में हरा दिया। (20:38)  दोनों टीमों ने निर्धारित ओवरों में समान 163 रनों का स्कोर बनाया और मैच सुपर ओवर में गया।

आईपीएल के 13 साल के इतिहास में केकेआर पहली बार सुपर ओवर में मैच जीती है। इससे पहले तीन बार उसे सुपर ओवर में हार का मुंह देखना पड़ा था।
सुपर ओवर में पहले बल्लेबाजी करते हुए हैदराबाद ने सिर्फ दो रन ही बनाए। कोलकाता ने चार गेंदों में तीन रन बना दो अंक अपने नाम किए।

Also Read: IPL 2020: जेसन होल्डर ने कहा, मौका मिलते ही IPL में बेहतरीन प्रदर्शन करना चाहता हूँ

पहले बल्लेबाजी करने वाली कोलकाता 20 ओवरों में पांच विकेट गंवाकर 163 रन बनाने में सफल रही। हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर ने इस मैच में अपने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव किया और चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे। उन्होंने आखिरी तक खड़े होकर नाबाद 47 रनों की पारी खेल टीम को मैच में बनाए रखा।

आखिरी ओवर में हैदराबाद को जीत के लिए 18 रन चाहिए थे। कोलकाता के कप्तान इयोन मोर्गन ने आखिरी ओवर दिया अनफिट आंद्रे रसेल को और वॉर्नर ने इसका फायदा उठाया। वॉर्नर ने लगातार तीन चौके मार टीम को जीत के करीब ला दिया। आखिरी गेंद पर दो रन चाहिए थे, लेकिन यहां वॉर्नर सिर्फ एक रन ही बना सके और मैच सुपर ओवर में गया। जहां कोलकाता ने जीत हासिल की।

कोलकाता की इस जीत के हीरो रहे लॉकी फर्ग्यूसन। जिन्होंने चार ओवरों में 15 रन देकर तीन अहम विकेट लिए और फिर सुपर ओवर में भी तीन गेंदों पर दो विकेट ले कोलकाता की जीत पक्की कर दी थी।

इस रोमांच से पहले, एक समय तक हैदराबाद मैच में थी, लेकिन इस सीजन अपना पहला मैच खेल रहे फर्ग्यूसन ने आते ही मैच पलट दिया।

पिच को देखते हुए यह लक्ष्य मुश्किल हो सकता था। हैदराबाद ने फिर भी अपनी सलामी जोड़ी में बदलाव किया। जॉनी बेयरस्टो के साथ डेविड वॉर्नर की जगह केन विलियम्सन ओपनिंग करने आए।

विलियम्सन और बेयरस्टो ने टीम को मजबूत शुरुआत दी। पावर प्ले यानी छह ओवरों में इस जोड़ी ने 58 रन बनाए। पावरप्ले के बाद मोर्गन ने गेंदबाजी में बदलाव किया और फर्ग्यूसन को लगाया। फर्ग्यूसन ने पहली ही गेंद पर विलियम्सन को नीतीश राणा के हाथों कैच आउट करा दिया। विलियम्सन 29 रन बना सके।

फर्ग्यूसन ने फिर विलियम्सन के स्थान पर आए प्रियम गर्ग (4) को आउट कर हैदराबाद का स्कोर 70/2 कर दिया।

अगले ओवर में आए वरुण चक्रवर्ती ने बेयरस्टो की पारी का अंत किया। 28 गेंदों पर 36 रन बनाने वाले बेयरस्टो का आसान कैच रसेल ने पकड़ा।

बेयरस्टो के जाने के बाद अब सब कुछ वॉर्नर पर ही निर्भर था जो आज मध्य क्रम में खेल रहे थे और उनके साथ थे मनीष पांडे। लेकिन फर्ग्यूसन की यॉर्कर के आगे पांडे (6) कुछ नहीं कर पाए।

विजय शंकर (7) ने एक बार फिर निराश किया। उनका विकेट पैट कमिंस ने लिया। शंकर के जाने के साथ ही हैदराबाद का स्कोर 109/5 हो गया और हार उसके करीब नजर आने लगी। वॉर्नर हालांकि खड़े थे, लेकिन अकेले योद्धा की तरह उन्हें लड़ाई लड़नी थी। युवा अब्दुल समद ने 15 गेंदों पर 23 रन बना वॉर्नर का साथ दे टीम को मैच में बनाए रखा। समद 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर आउट हुए। वॉर्नर टिके थे लेकिन टीम को सीमा पार नहीं करा सके और मैच सुपर ओवर में ले गए। जहां टीम को हार मिली।

इससे पहले, कोलकाता को राहुल त्रिपाठी और शभुमन गिल ने अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 48 रन जोड़े। त्रिपाठी (23) बाएं हाथ के गेंदबाज टी. नटराजन की गेंद को समझने में गलती कर बैठे और बोल्ड हो गए। इसी के साथ यह साझेदारी भी टूट गई।

नीतीश राणा और गिल ने फिर पारी बनाना शुरू किया। यह साझेदारी ज्यादा पनप नहीं पाई। इस साझेदारी को खतरनाक होने से पहले ही राशिद खान ने गिल (36) को आउट कर तोड़ दिया। इस समय टीम का स्कोर 87 रन था। 88 के कुल योग पर राणा का विकेट भी हैदराबाद ने खो दिया। राणा (29) को विजय शंकर ने आउट किया।

रसेल का खराब फॉर्म इस मैच में भी जारी रहा। नौ रन बनाने वाले रसेल ने शॉट तो अच्छा खेला लेकिन नटराजन की गेंद को सीधा डीप मिडविकेट पर विजय के हाथों में दे बैठे।

फिर पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक (नाबाद 29 रन, 14 गेंद 2 चौके, 2 छक्के) और कप्तान इयोन मोर्गन (34 रन, 23 गेंद, 3 चौके, 1 छक्का) ने एक साझेदारी की जो टीम को 163 का स्कोर देने में सफल रही। इन दोनों ने 54 रन जोड़े।