X close
X close

IPL 2020: कप्तान धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की हार के बाद कहा,नो बॉल फेंकने का खामियाजा भुगतना पड़ा

By Saurabh Sharma
Sep 23, 2020 • 08:26 AM

आईपीएल-13 के अपने दूसरे मैच में मात खाने वाली चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने मंगलवार को कहा है कि टीम को नो बॉल फेंकने का खामियाजा भुगतना पड़ा। राजस्थान रॉयल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाए। चेन्नई पूरे ओवर खेलने के बाद 200 रन ही बना सकी।

चेन्नई ने पूरे मैच में तीन नो बॉल फेंकी जिसमें से दो नो बाल लुंगी एंगिडी ने आखिरी ओवर में फेंकी जिन पर दो छक्के पड़े।

Also Read: IPL 2020: चेन्नई सुपर किंग्स- राजस्थान रॉयल्स के मुकाबले में हुई छक्कों की बरसात, बने 3 अनोखे रिकॉर्ड

धोनी मैच के बाद कहा, "उनके स्पिनरों ने ज्यादा कुछ अलग करने की कोशिश नहीं की, लेकिन हमारे स्पिनरों ने शुरुआती ओवरों में ऐसा नहीं किया। किसी एक को कुछ न कहते हुए मेरा कहना है कि हम नियंत्रण कर सकते थे। हम नो बॉल पर नियंत्रण कर सकते थे। अगर हमने नो बॉल नहीं फेंकी होती तो हम 200 रनों का पीछा कर रहे होते और यह एक अच्छा मैच होता।"

217 रनों के लक्ष्य के पीछा करने उतरी चेन्नई के लिए किसी का बल्ला चला तो वो था फाफ डु प्लेसिस का। फाफ ने 37 गेंदों पर सात छक्के और एक चौके की मदद से 72 रनों की पारी खेली।

धोनी ने फाफ की तारीफ करते हुए कहा, "फाफ ने शानदार बल्लेबाजी की। अहम चीज स्थिति के साथ तालमेल बिठाना है। जब स्पिनर छोटी गेंद कर रहे थे जरूरी था कि मिड ऑन के ऊपर से मारा जाए न कि स्कावयर लेग के क्योंकि गेंद नीची रह रही थी। मुझे लगता है कि फाफा ने यही किया।"

धोनी ने कहा कि राजस्थान के गेंदबाजों को भी श्रेय देना चाहिए।

उन्होंने कहा, "आपको उनके गेंदबाजों को श्रेय देना होगा। काफी सारी ओस थी। वो जानते थे कि किस लैंग्थ पर गेंदबाजी करनी है।"