X close
X close
Indibet

बुमराह का दमदार बाउंसर या स्टीव स्मिथ की बेजोड़ बल्लेबाजी? ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने खुद दिया जवाब

Shubham Shah
By Shubham Shah
November 14, 2020 • 18:22 PM View: 450

हाल ही में खत्म हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में जसप्रीत बुमराह ने शॉर्ट पिच गेंदों से बल्लेबाजों के परेशान किया था, जिसने आस्ट्रेलियाई टीम को चिंता में डाला होगा। आस्ट्रेलिया के मुख्य बल्लेबाजों में शुमार स्टीव स्मिथ ने हालांकि इस तरह चिंताओं को सिरे से नकार दिया है, लेकिन बुमराह की शॉर्ट पिच गेंदों की सफलताओं से आगामी आस्ट्रेलिया दौरे पर एक रोचक प्रतिस्पर्धा की उम्मीद को बढ़ा दिया है।

आईपीएल में बुमराह ने अपनी बाउंसरों से विराट कोहली, देवदत्त पडिकल, निकोलस पूरन, अंबाती रायडू, शिवम दुबे और आंद्र रसेल के विकेट चटकाए।

Trending


आईपीएल में स्मिथ ने बुमराह की छह गेंदें खेलीं, लेकिन इसमें से एक भी गेंद शॉर्ट पिच नहीं थी। सभी गेंदें गुड लैंग्थ थीं। स्मिथ ने बुमराह की गेंद पर एक मैच में एक चौका और छक्का भी मारा था।

एक अन्य मैच में स्मिथ मुंबई इंडियंस के बुमराह की पहली ही गेंद पर बोल्ड हो गए थे।

आस्ट्रेलिया की विकेट पर ज्यादा बाउंस रहता है इसलिए बमुराह निश्चित तौर पर इसका फायदा उठाने की फिराक में होंगे।

स्मिथ को न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई सीरीज में बाउंसरों से परेशानी हुई थी। बाएं हाथ के नील वेग्नर ने उन्हें जमकर परेशान किया था। कीवी टीम ने स्मिथ के खिलाफ शॉर्ट गेंदों की रणनीति अपनाई थी जो सफल ही थी। स्मिथ पांच से चार बार इसी तरह की गेंदों पर आउट हुए थे।

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान हालांकि इस बात से परेशान नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वेग्नर के प्रदर्शन को दोहराना आसान नहीं है क्योंकि वह काफी सटीक थे और अपनी तेजी को अच्छे से बदलते थे।

स्मिथ ने न्यूज कोर्प से कहा, "मेरे लिए यह ड्रामा नहीं है। मैं बस खेल खलेता हूं और स्थिति के हिसाब से ढलता हूं, कि कैसे वो मुझे आउट करने की कोशिश कर रहे हैं और मैं कैसे उनको काउंटर कर सकता हूं। कुछ और टीमों ने भी इसकी कोशिश की है और जिस तरह से वेग्नर ने इस रणनीति को लागू किया था उसकी तुलना में बाकी टीमों को इसको लागू करने में उन्हें परेशानी हुई है।"

उन्होंने कहा, "अगर टीमें मुझे इस तरह से आउट करना चाहती हैं तो यह मेरी टीम के लिए फायदा ही है क्योंकि अगर आप लगातार शॉर्ट गेंदें करते हो तो इसके लिए लोगों को काफी ताकत लगानी पड़ेगी। अगर मुझे अपने जीवन में ज्यादा शॉर्ट पिच गेंदों का सामना करना पड़ा तो मुझे इससे परेशानी नहीं होगी।"


 
Article