X close
X close

IPL 2020: मुंबई इंडियंस को 10 विकेट से रौंदकर सनराइजर्स हैदराबाद प्लेऑफ में पहुंची,केकआर हुई बाहर

By Saurabh Sharma
Nov 04, 2020 • 00:09 AM

सनराइजर्स हैदराबाद ने एक बार फिर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर लिया है। 2016 की विजेता हैदराबाद ने मंगलवार को यहां शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईपीएल-13 के अंतिम लीग चरण मैच में मुंबई इंडियंस को 10 विकेट से हराकर मैच अपने नाम किया और प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की की। 

मुंबई ने पहले बल्लेबाजी की और हैदराबाद के संयुक्त गेंदबाजी प्रदर्शन के सामने वह कीरन पोलार्ड (41) की जुझारू पारी के दम 20 ओवरों में आठ विकेट खोकर बमुश्किल 149 रन ही बना पाई। शारजाह क्रिकेट स्टेडियम जैसे छोटे मैदान पर हैदराबाद के लिए यह लक्ष्य हासिल करना मुश्किल नहीं था। हैदराबाद ने 17.1 ओवरों में बिना विकेट खोए 150 रन का लक्ष्य हासिल कर लिया।

Also Read: IPL 2020: कीरोन पोलार्ड की तूफानी पारी से मुंबई इंडियंस ने सनराइजर्स हैदराबाद को दिया 150 का लक्ष्य

इस जीत के साथ हैदराबाद ने लीग चरण का अंत तीसरे स्थान पर रहते हुए किया है और कोलकाता नाइट राइडर्स की प्लेऑफ की उम्मीदों को भी खत्म कर दिया। अगर हैदराबाद इस मैच में हार जाती तो कोलकाता को प्लेऑफ में प्रवेश मिल जाता। अब हैदराबाद एलिमिनेटर छह नवंबर को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ एलिमिनेटर मुकाबला खेलेगी।

हैदराबाद को प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने के लिए इस मैच में हर हाल में जीत चाहिए थी। आसान सा लक्ष्य भी उसे मिला और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए जिस तरह की शुरूआत की जरूरत थी वो भी उसे मिली।

कप्तान डेविड वॉर्नर (नाबाद 85 रन, 58 गेंदें, 10 चौके, 1 छक्का) और रिद्धिमान साहा (नाबाद 58 रन, 45 गेंद, 7 चौके, 1 छक्का) ने टीम को आक्रामक शुरुआत दी। इस सलामी जोड़ी ने शुरुआती छह ओवरों में 56 रन जोड़ टीम की जीत की बुनियाद रख दी।

वॉर्नर ने 12वें ओवर की पहली गेंद पर राहुल चहर पर छक्का मार इस सीजन का अपना चौथा अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में साहा ने भी अपने 50 रन पूरे किए।

जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट की कमी निश्चित तौर पर मुंबई को खल रही थी, क्योंकि धवल कुलकर्णी, जेम्स पैटिनसन, नाथन कुल्टर नाइल की तेज गेंदबाजी तिगड़ी विकेट नहीं निकाल पा रही थी। ना ही चहल और क्रुणाल अपनी फिरकी से साहा और वॉर्नर को परेशान कर पा रहे थे।

इन दोनों के लिए बल्लेबाजी आसान लग रही थी और इसी आसानी से इन्होंने मैच को पूरी तरह से हैदराबाद की तरफ मोड़ दिया था। 18वें ओवर की पहली गेंद पर वॉर्नर ने चौका मार अपनी टीम को जीत दिलाई।

इससे पहले, बल्लेबाजी में मजबूत प्रदर्शन करने से पहले हैदराबाद ने गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया। हैदराबाद ने मुंबई के बल्लेबाजी क्रम को कम स्कोर पर रोक दिया।

शुरुआत से ही हैदराबाद ने मुंबई के कीरन पोलार्ड को छोड़कर बाकी बल्लेबाजों पर लगाम लगाए रखी। इस मैच से वापसी करने वाले मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा (4) को संदीप शर्मा ने बोल्ड कर दिया। संदीप ने ही क्विंटन डी कॉक (25) को पवेलियन की राह दिखाई।

रोहित के आने से फिर मध्य क्रम में आए ईशन किशन (33) और शानदार फॉर्म में चल रहे सूर्यकुमार यादव (36) ने कुछ देर विकेट पर खड़े होकर हैदराबाद के गेंदबाजों को परेशानी में डाला, लेकिन बाएं हाथ के स्पिनर शहबाज नदीम ने एक ही ओवर में दो विकेट ले मुंबई को फिर दबाव में ला दिया।

नदीम ने पहले अपनी फिरकी में सूर्यकुमार को फंसाया। विकेटकीपर साहा ने उन्हें स्टम्पिंग किया। इसी ओवर में नदीम ने क्रुणाल (0) को भी पवेलियन भेज दिया।

फिर सौरव तिवारी (1) को राशिद खान ने आउट किया। किशन एक छोर पर खड़े होकर तेजी से रन बनाने की कोशिश जारी रखे हुए थे। उनकी रफ्तार पर संदीप ने ब्रेक लगा दिया। संदीप ने किशन को बोल्ड कर दिया। अगले ओवर में जेसन होल्डर ने नाथन कुल्टर नाइल (1) को बोल्ड किया।

किशन जिस काम को अंजाम नहीं दे पाए थे उसे पोलार्ड ने किया और आखिरी ओवरों में तेजी से रन बनाए जिसके दम पर मुंबई 20 ओवरों में आठ विकेट पर 149 रन बना पाने में सफल रही। पोलार्ड ने 25 गेंदों की पारी में दो चौके और चार छक्के लगाए।

हैदराबाद के लिए संदीप ने तीन विकेट लिए। होल्डर और नदीम ने दो-दो विकेट लिए। राशिद के हिस्से एक सफलता आई।