X close
X close
Indibet

सूर्यकुमार यादव को मिला बीसीसीआई का पूरा साथ, पीसीबी का खिलाड़ियों के प्रति है बुरा व्यवहार: दानिश कनेरिया

IANS News
By IANS News
December 09, 2020 • 15:25 PM View: 311

पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने कहा है कि सूर्यकुमार यादव को भारत को छोड़कर किसी और देश में खेलने नहीं जाना पड़ेगा क्योंकि उन्हें इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) और बीसीसीआई से काफी सहयोग मिल रहा है। वहीं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) लगातार समी असलम जैसे प्रतिभाशाली युवाओं को खोती जा रही है क्योंकि इन खिलाड़ियों को पीसीबी से समर्थन नहीं मिला। असलम ने पाकिस्तान के लिए 13 टेस्ट और चार वनडे मैच खेले हैं। उन्होंने हाल ही में पाकिस्तान को छोड़ अमेरिका में मेजर लीग क्रिकेट खेलने का फैसला किया है।

अपने यूट्यूब चैनल पर बोलते हुए कनेरिया ने कहा, "वह (समी असलम) एक निरंतर खिलाड़ी हैं। उनके साथ अन्याय हुआ है। उन्हें शान मसूद और इमाम उल हक की तरह मौके नहीं मिले।"

Trending


उन्होंने कहा, "यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पीसीबी इस तरह का व्यवहार कर रही है कि खिलाड़ियों को अपने घर छोड़कर बाहर जाना पड़ रहा है। भारत के सूर्यकुमार यादव को स्कॉट स्टायरिस से न्यूजीलैंड के लिए खेलने का प्रस्ताव मिला था, लेकिन उनकी फ्रेंचाइजी उनके लिए खड़ी रही, बीसीसीआई भी उनके लिए खड़ी रही, ताकि उन्हें भारत नहीं छोड़ना पड़े।"

सूर्यकुमार यादव मुंबई इंडियंस की पांचवीं आईपीएल जीत में अहम किरदार निभाने वाले शख्स रहे थे। आस्ट्रेलिया दौरे पर सूर्यकुमार को टीम में न चुने जाने पर चयनकर्ताओं की काफी आलोचनाएं हुई थीं।

कनेरिया ने बताया कि जब वह पाकिस्तान के लिए खेल रहे थे तब उन्हें भी दो देशों से खेलने का प्रस्ताव मिला था, लेकिन उन्होंने उन प्रस्तावों को ठुकरा दिया था।

उन्होंने कहा, "पीछे पलटकर देखता हूं तो, मुझे लगता है कि मुझे भी किसी और देश के लिए खेलने चले जाना चाहिए था। उनका क्रिकेट बोर्ड कम से कम मेरा समर्थन तो करता।"

कनेरिया ने पाकिस्तान के लिए 61 टेस्ट मैच खेले हैं और कुल 261 विकेट लिए हैं। उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के चलते आजीवन तौर पर बैन कर दिया गया था।

उन्होंने पीसीबी से बैन हटाने की मांग की थी और घरेलू क्रिकेट खेलने की मंजूरी मांगी थी।


 
Article