X close
X close
Indibet

मेलबर्न टेस्ट (लंच रिपोर्ट): पहले सत्र में टीम इंडिया को लगा डबल झटका,शुभमन गिल अर्धशतक से चूके 

IANS News
By IANS News
December 27, 2020 • 07:22 AM View: 1537

भारतीय क्रिकेट टीम ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर ऑस्ट्रेलिया के साथ जारी दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार को पहले सत्र की समाप्ति के बाद अपनी पहली पारी में तीन विकेट गंवाकर 90 रन बना लिए हैं। टॉस हारकर पहले गेंदबाजी करते हुए भारत ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर पहले दिन ही मेजबान टीम की पहली पारी 195 रनों पर समेट दी थी। इसके बाद दिन की समाप्ति तक भारत ने मयंक अग्रवाल (0) का विकेट गंवाकर 36 रन बना लिए थे। देखें पूरा स्कोरकार्ड

चेतेश्वर पुजारा सात और अपना पहला टेस्ट खेल रहे शुभमन गिल 28 रनों पर नाबाद लौटे थे।

Trending


दूसरे दिन के पहले सत्र में भारतीय बल्लेबाजों और मेजबान गेंदबाजों और फील्डरों के साथ किस्मत ने आंखमिचौली खेली। कुछ स्निक हुए, कुछ कैच छूटे और कुछ बहुत अच्छी गेंदों पर विकेट नहीं मिले।

इन सबके बीच पुजारा और गिल ने 61 रनों की साझेदारी पूरी। गिल ने अपने पिछले दिन के स्कोर में 17 रन जोड़े। कल उन्होंने पांच चौके लगाए थे और आज तीन लगाए। गिल अपना यादगार अर्धशतक पूरा कर पाते उससे पहले ही पैट कमिंस ने उन्हें कप्तान तथा विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच कराकर भारत को दूसरा झटका दिया।

गिल ने 65 गेंदों का सामना किया और आठ चौके लगाए। कप्तान अजिंक्य रहाणे अब पुजारा का साथ देने विकेट पर आए लेकिन कुल सकोर में तीन रन जोड़ने के बाद पेन ने कमिंस की एक बेहतरीन गेंद पर पुजारा को पहले स्लिप में लपक लिया।

पुजारा का विकेट 64 के कुल योग पर गिरा। पुजारा ने 70 गेंदों का सामना कर एक चौके की मदद से 17 रन बनाए।

इसके बाद हनुमा विहारी और कप्तान रहाणे ने टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया। दोनों ने संयम के साथ खेलते हुए चौथे विकेट के लिए 80 गेंदों पर 26 रन जोड़े हैं।

विहारी ने 40 गेंदों का सामना कर एक चौके की मदद से 13 रन बनाए हैं जबकि कप्तान ने 42 गेंदों का सामना कर एक चौके की मदद से 10 रन जोड़े हैं। पहली पारी की तुलना में भारत अभी भी 105 रन पीछे है।

चार मैचों की सीरीज में भारत 0-1 से पीछे है। ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड में खेले गए डे-नाइट टेस्ट में भारत को 8 विकेट से हराया था। यह टेस्ट इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया क्योंकि दूसरी पारी में भारतीय टीम 36 रनों पर सिमट गई थी, जो टेस्ट इतिहास में उसका पारी का न्यूनतम योग है।


 
Article