X close
X close

'मुझे पता था कि मैं ओपनिंग नहीं करूंगा, केएल राहुल-रोहित भाई-ईशन किशन टीम में थे'

रोहित शर्मा से लेकर ऋषभ पंत तक टीम इंडिया के पास लिमिटेड ओवर क्रिकेट में कई ओपनर्स हैं। इस बीच वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) ने राहुल द्रविड़ के साथ हुई अपनी बातचीत का खुलासा किया है।

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma November 23, 2022 • 13:18 PM

टीम इंडिया के लिए लिमिटेड ओवर क्रिकेट में ओपनिंग पोजिशन के लिए कई दावेदार हैं। हालांकि, टीम इंडिया में कोई ऐसा खिलाड़ी नहीं है जो तेज गेंदबाजी करने के साथ ही ओपनिंग भी कर सके। हार्दिक पांड्या के पूरी तरह से फिट नहीं होने पर भारत ने वेंकटेश अय्यर को टीम में मौका दिया था। यह तथ्य था कि वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) ओपनिंग भी कर सकते हैं। टीम में चुने जाने पर वेंकटेश अय्यर को उनके रोल के बारे में कैसे बताया गया इसका इस खिलाड़ी ने खुलासा किया है।

वेंकटेश अय्यर ने क्रिकेटनेक्स्ट के साथ बातचीत के दौरान कहा, 'जब मैं टीम में आया और टीम की तरफ देखा तो पाया कि वहां पहले से ही तीन सलामी बल्लेबाज हैं। रोहित भाई, केएल राहुल और ईशान किशन पहले से ही वहां मौजूद थे। इसलिए मुझे पता था कि मैं ओपनिंग नहीं करने जा रहा हूं। और फिर जब मैं राहुल सर से मिला तब मेरे सारे डाउट क्लियर हुए।'

Trending


वेंकटेश अय्यर ने आगे कहा, 'राहुल सर ने मुझसे पूछा कि जब मैं ओपनिंग करता था तो मैं पारी को कैसे देखता था और मुझे बताया गया कि मैं टीम में एक फिनिशर की भूमिका निभाऊंगा। जब भी कोई आपको कोई नया रोल देता है तो वह आपको थोड़ी सी छूट भी देता है। रोहित भाई और राहुल सर ने मुझसे कहा कि मुझे उस भूमिका को निभाने के लिए कई गेम दिए जाएंगे। और एक बार जब आपको कप्तान और कोच का समर्थन मिल जाता है, तो काम और भी आसान हो जाता है।'

यह भी पढ़ें: 5 भारतीय खिलाड़ी जिनके साथ किस्मत ने खेला गेम, बन गए अनलकी क्रिकेटर

अय्यर ने भारत के लिए खेले गए 10 मैचों (आठ T20I और दो ODI) में केवल 14 ओवर फेंके। इसपर बोलते हुए इस खिलाड़ी ने कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो मुझे महसूस हुआ कि मैंने कम गेंदबाजी की है। लेकिन जब मैं इसे कप्तान के नजरिए से सोचता हूं तो आप जानते हैं कि जब आपके पांच गेंदबाज अच्छा काम कर रहे हैं तो छठे गेंदबाजी विकल्प का उपयोग करना वास्तव में आवश्यक नहीं है। और यही रोहित भाई ने किया। हालांकि, मेरे हिसाब से मैं 20 ओवर बल्लेबाजी करना और अपने चार ओवर फेंकना पसंद करूंगा लेकिन वास्तव में हमेशा यह संभव नहीं है।'