X close
X close

VIDEO: कुलदीप यादव के बॉलिग कोच 'युजवेंद्र चहल', मैच से पहले दे दिया था सफलता का गुरु मंत्र

भारतीय टीम ने श्रीलंका को वनडे सीरीज के शुरुआती दोनों मुकाबले हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat January 13, 2023 • 12:09 PM

Chahal TV: इंडिया बनाम श्रीलंका, दूसरा वनडे मुकाबला भारत ने 4 विकेट से जीता। इस मैच में कुलदीप यादव को इंडियन इलेवन में शामिल किया गया था, जिसके बाद उन्होंने अपनी कलाई का जादू दिखाकर सभी को हैरान कर दिया। कुलदीप यादव ने मैच में श्रीलंका के तीन विकेट चटकाए। कुलदीप ने कुसल मेंडिस, चरिथ असलंका और विपक्षी टीम के सबसे फॉर्म में दिख रहे खिलाड़ी और कप्तान दसुन शनाका को आउट किया। वह मैच में टीम के हीरो रहे, लेकिन उन्होंने मैच के बाद यह साफ किया कि उनकी सफलता में युजवेंद्र चहल का बड़ा हाथ है। अब इसी से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

युजवेंद्र चहल ने दिया था सफलता का गुरु मंत्र: कोलकाता में खेले गए वनडे मैच के बाद युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के बीच बातचीत हुई। इस दौरान कुलदीप यादव ने बताया कि मैच से पहले चहल ने उन्हें श्रीलंका के खिलाड़ियों के बारे में काफी जानकारी दी थी कि वह कैसे खेलते हैं जिसका फायदा उन्होंने लिया। इसके लिए कुलदीप ने साथी खिलाड़ी को धन्यवाद कहा। इसी के साथ युजवेंद्र चहल ने मस्ती की और बोले, 'पहले मैं सूर्यकुमार यादव का बैटिंग कोच था और अब कुलदीप का बॉलिंग कोच बना गया हूं।'

Trending


किस्मत से मिला था मौका: बता दें कि कुलदीप यादव ने बीते समय में अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन इसके बावजूद उन्हें सिर्फ एक बैकअप प्लेयर के तौर पर देखा जा रहा है। ऐसा ही सीरीज के दौरान भी देखने को मिला। दरअसल, युजवेंद्र चहल पहले वनडे मैच के दौरान फील्डिंग करते हुए चोटिल हो गए थे जिस वजह से वह दूसरे मैच में टीम का हिस्सा नहीं बन सके। यही कारण रहा जिस वजह से कुलदीप को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया।

Also Read: LIVE Score

मैच के बाद कुलदीप यादव ने कहा, 'मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं। मुझे जब भी मौका मिलता है, मैं अपना बेस्ट देने और अपनी क्षमताओं को वापस लाने की कोशिश करता हूं। मैं अब ज्यादा नहीं सोचता। जब भी मुझे मौक़ा मिलता है, मैं सिर्फ़ अच्छा प्रदर्शन करने के बारे में ही सोचता हूं। हालांकि, टीम संयोजन महत्वपूर्ण है, मैं इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचता। पिछले एक साल में मैंने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया है, मैं पूरा श्रेय एनसीए के सभी कोच को देना चाहूंगा।'