X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

49 साल के हुए ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वॉर्न, जानिए उनसे जुड़ी दिलचस्प बातें

by Saurabh Sharma Sep 13, 2018 • 16:38 PM

दुनिया के महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न आज अपना 49वां बर्थडे मना रहे हैं। इस खास मौके पर आइए जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ खास बातें। 

जन्मस्थल व पूरा नाम

शेन वॉर्न का जन्म 14 सितंबर साल 1969 को ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया शहर में हुआ हैं। इनका पूरा नाम शेन कीथ वॉर्न हैं।

कुछ खास नहीं रहा था इंटरनेशनल डेब्यू

शेन वॉर्न ने साल 1992 में  भारत के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया। मैच में दिग्गज रवि शास्त्री और तब युवा बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने उनकी जम के धुनाई की। मैच में उन्होंने 150 रन खर्च करते हुए महज एक विकेट हासिल किया। PHOTOS: एबी डी विलियर्स की वाइफ डेनियल हैं बहुत खूबसूरत, जरूर देखें 

1999 वर्ल्ड कप में जीत में अहम भूमिका

शेन वॉर्न साल 1999 में हुए 50-50 क्रिकेट वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाजों में सबसे आगे थे। वॉर्न ने उस टूर्नामेंट में 20 विकेट चटकाते हुए ऑस्ट्रेलिया को दोबारा वर्ल्ड चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई हैं।

साल 2003 में वपास भेजा गया घर

वॉर्न अपने पूरे करियर के दौरान विवादों से घिरे रहे। 2003 वर्ल्ड कप में एक मेडिकल टेस्ट के दौरान वॉर्न को ड्रग एडिक्ट पाया गया जिसके बाद उन्हें साउथ अफ्रीका से वपास अपने घर भेज दिया गया। वॉर्न को ड्रग इस्तेमाल करने के जुर्म में  उनके ऊपर 12 महीने का बैन लगाया गया।

 "बॉल ऑफ द सेंचुरी"

इंग्लैंड के खिलाफ एशेज के दौरान ओवर की पहली गेंद जिस पर वॉर्न को माइक गेटिंग का विकेट हासिल हुआ वो वाकई एक चमत्कारिक गेंद थी। वॉर्न के हाथ से निकली वो गेंद पहले तो विकेट के बाहर की तरफ गयी फिर अचानक से अंदर की ओर आके उनके विकेट की गिल्लियां बिखेर दी। तब ग्राउंड पर अंपायरिंग करा रहे रिच बेनौड ने कहा कि "गेटिंग को अभी तक पता नहीं चला उनके साथ क्या हुआ और ना कभी चलेगा"।

एक साल में सबसे ज्यादा विकेट

टेस्ट क्रिकेट में एक साल में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड शेन वॉर्न के नाम है। उन्होंने साल 2005 में खेले गए 15 टेस्ट मैचों में 96 विकेट हासिल किए थे। 

टेस्ट क्रिकेट में 700 से ज्यादा विकेट

शेन वॉर्न (708 विकेट) टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में दूसरे स्थान पर हैं। साथ ही वह इंटरनेशनल क्रिकेट में 1000 से ज्यादा विकेट लेने वाले सिर्फ दूसरे गेंदबाज हैं।