X close
X close

फुटबॉलर मौत मामला : प्रस्तावित हड़ताल पर सरकारी डॉक्टरों से बात करेगी तमिलनाडु सरकार

तमिलनाडु का स्वास्थ्य विभाग उन सरकारी डॉक्टरों से बातचीत करेगा, जो फुटबॉलर प्रिया की मौत के मामले में आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किए जाने पर हड़ताल पर जाने की धमकी दे रहे हैं।

IANS News
By IANS News November 21, 2022 • 12:48 PM
Tamil Nadu government to talk to government doctors on proposed strike
Image Source: IANS

तमिलनाडु का स्वास्थ्य विभाग उन सरकारी डॉक्टरों से बातचीत करेगा, जो फुटबॉलर प्रिया की मौत के मामले में आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किए जाने पर हड़ताल पर जाने की धमकी दे रहे हैं।

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री मा. सुब्रमण्यन ने एक बयान में कहा कि सरकार उन सरकारी डॉक्टरों से चर्चा करेगी, जो हड़ताल पर जाने की धमकी दे रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा, फुटबॉल खिलाड़ी प्रिया के निधन के बाद, उसके परिवार ने शिकायत की थी कि डॉक्टरों की लापरवाही से उसकी मौत हुई है। जब सरकार इसकी जांच कर रही है, तो डॉक्टरों को लगता है कि वे पीड़ित और प्रभावित हैं।

स्वास्थ्य विभाग राजीव गांधी सामान्य अस्पताल के सभी सर्जनों के साथ परामर्श बैठक करेगा। सरकार सभी सर्जरी का ऑडिट करने की योजना बना रही है और उपकरण और प्रोटोकॉल पर दिशानिर्देश तैयार किए जाएंगे। तमिलनाडु स्वास्थ्य विभाग सर्जरी पर ऑडिट के यूरोपीय मॉडल चाहता है ताकि हर कोई जवाबदेह हो।

17 वर्षीय होनहार फुटबॉलर, आर. प्रिया को सरकारी पेरिफेरल अस्पताल, पेरियार नगर में भर्ती कराया गया था। उसके दाहिने पैर में संक्रमण फैल गया था। डॉक्टरों ने कंप्रेशन बैंडेज को नहीं हटाया और उसे जटिलताएं पैदा हो गईं और उसे चेन्नई के राजीव गांधी गवर्नमेंट जनरल अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां उसका दाहिना पैर काट दिया गया। इससे और समस्याएं पैदा हो गई प्रिया ने 15 नवंबर को अंतिम सांस ली।

स्वास्थ्य विभाग राजीव गांधी सामान्य अस्पताल के सभी सर्जनों के साथ परामर्श बैठक करेगा। सरकार सभी सर्जरी का ऑडिट करने की योजना बना रही है और उपकरण और प्रोटोकॉल पर दिशानिर्देश तैयार किए जाएंगे। तमिलनाडु स्वास्थ्य विभाग सर्जरी पर ऑडिट के यूरोपीय मॉडल चाहता है ताकि हर कोई जवाबदेह हो।

Also Read: क्रिकेट के अनोखे किस्से

डॉक्टर धमकी दे रहे हैं कि अगर उनमें से किसी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया गया तो वे हड़ताल पर चले जाएंगे और सरकार इस मामले में डॉक्टरों के साथ बैठक करेगी।

This story has not been edited by Cricketnmore staff and is auto-generated from a syndicated feed


TAGS