X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे एकदिवसीय मुक़ाबले मैं भारत को 32 रन से हराया (रिपोर्ट)

by Sahir Usman Mar 08, 2019 • 21:59 PM

रांची, 8 मार्च - कप्तान विराट कोहली (123) के शतक के बावजूद भारतीय क्रिकेट टीम को यहां खेले गए तीसरे वनडे मैच में शुक्रवार को आस्ट्रेलिया के हाथों 32 रनों से हार का सामना करना पड़ा। भारत अभी भी पांच मैचों की सीरीज में 2-1 से आगे है। वहीं, इस जीत के बाद आस्ट्रेलिया अभी भी सीरीज में बनी हुई है। 

आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए उस्मान ख्वाजा (104) के शतक की मदद से पांच विकेट पर 313 रनों का मजबूत स्कोर बनाया। भारतीय टीम इसके जवाब में 48.2 ओवर में 281 रन ही बना पाई। 

आस्ट्रेलिया से मिले 314 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने 86 रन के अंदर ही अपने चार विकेट गंवा दिए। इसमें शिखर धवन (1), रोहित शर्मा (14), अंबाती रायडू (2) और अपने घर में संभवत : अपना आखिरी वनडे मैच खेल रहे महेंद्र सिह धोनी (26) के विकेट भी शामिल हैं। 

हालांकि इसके बाद कोहली और केदार जाधव (26) ने पांचवें विकेट के लिए 88 रन की साझेदारी कर टीम को संकट से बाहर निकाला। 

केदार टीम के 174 के स्कोर पर पांचवें बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। उनके आउट होने के बाद कप्तान ने विजय शंकर (32) के साथ छठे विकेट के लिए 45 रन जोड़े। इस दौरान कोहली ने अपने वनडे करियर का 41वां शतक पूरा किया। 

कोहली का आस्ट्रेलिया के खिलाफ यह आठवां, भारत में 19वां और लक्ष्य का पीछा करते हुए यह 25वां शतक है।

कोहली टीम के 219 के स्कोर पर छठे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। उन्होंने 95 गेदों पर 16 चौके और एक छक्का लगाया। कोहली के आउट होने के बाद शंकर भी चलते बने। उन्होंने 30 गेंदों पर चार चौके लगाए। 

शंकर के टीम के 257 के स्कोर पर आउट होने के बाद भारतीय टीम 48.2 ओवर में 281 रन पर आॉलआउट हो गई। रवींद्र जडेजा ने 24, कुलदीप यादव ने 10 और मोहम्मद शमी ने आठ रन बनाए। 

आस्ट्रेलिया की ओर से पैट कमिंस, झाए रिचर्डसन और एडम जम्पा ने तीन-तीन जबकि नाथन लॉयन ने एक विकेट लिए। 

इससे पहले, आस्ट्रेलिया ने निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट पर 313 रनों का स्कोर खड़ा किया। 

कप्तान एरॉन फिंच (93) और उनके सलामी जोड़ीदार उस्मान ख्वाजा (104) ने आस्ट्रेलिया को बेहद मजबूत शुरूआत दी और पहले विकेट के लिए 31.5 ओवरों में 193 रनों की साझेदारी की, लेकिन कुलदीप यादव ने अहम समय पर फिंच, शॉन मार्श (7) और पीटर हैंड्सकॉम्ब (0) के विकेट लेकर मेहमान टीम की रनगति पर ब्रेक लगाया।

बाकी का काम अंत में जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी ने कर दिया। बुमराह ने 10 ओवरों में 53 रन दिए लेकिन विकेट नहीं ले पाए। शमी ने 10 ओवरों में 52 रन देकर एक विकेट लिया। 

फिंच और ख्वाजा की साझेदारी भारत के खिलाफ भारत में पहले विकेट के लिए अभी तक की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है। इस रिकार्ड में पहले नंबर पर दक्षिण अफ्रीका के गैरी कस्र्टन और हर्षल गिब्स की जोड़ी है। इन दोनों ने 2000 में कोच्चि में पहले विकेट के लिए 235 रन जोड़े थे। 

यह इस मैदान पर किसी भी विकेट के लिए की गई अभी तक की सबसे बड़ी साझेदारी भी है। इस जोड़ी ने अपने ही देश के जॉर्ज बैली और ग्लैन मैक्सवेल के बीच 2013 में हुई 153 रनों की साझेदारी का रिकार्ड तोड़ा। 

ख्वाजा का यह वनडे में पहला शतक है। फिंच हालांकि शतक पूरा नहीं कर पाए और कुलदीप की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। फिंच ने 99 गेंदों की पारी में 10 चौके और तीन छक्के लगाए। 

फिंच के जाने के बाद ख्वाजा ने 37वें ओवर की आखिरी गेंद पर एक रन लेकर अपना पहला शतक पूरा किया जिसके लिए उन्होंने 107 गेंदें खेलीं। शतक पूरा करने के बाद ख्वाजा टीम के 239 के स्कोर पर शमी की गेंद पर आउट हो गए। उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। 

इसके बाद आस्ट्रेलिया ने 24 रन के भीतर ग्लैन मैक्सवेल (47), शॉन मार्श, और पीटर हैंड्सकॉम्ब के विकेट खो दिए। 

अंत में मार्क स्टोइनिस (नाबाद 31) और एलेक्स कैरी (नाबाद 21) ने तेजी से रन बटोरने की कोशिश तो की लेकिन ज्यादा सफल नहीं हो पाए। 


आईएएनएस