"
X close
X close

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने खोला राज, बताया धोनी को टॉप आर्डर में बल्लेबाजी का मौका क्यों दिया

By Saurabh Sharma
Aug 23, 2020 • 17:10 PM

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा है कि हाल ही में संन्यास लेने वाले महेंद्र सिंह धोनी में बड़े शॉट्स खेलने की काबिलियत थी और इसलिए उन्हें बल्लेबाजी ऑर्डर में ऊपर लाना और स्वतंत्रता से अपना खेल खेलने देना जरूरी था।

भारत को सभी आईसीसी ट्रॉफी दिलाने वाले कप्तान धोनी ने 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट से अलविदा कह दिया। गांगुली ने अपनी कप्तानी में धोनी को 2005 में विशाखापट्टनम में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए वनडे मैच में नंबर-3 पर भेजा था। धोनी कप्तान के भरोसे पर खरा उतरे थे और 148 रनों की पारी खेल टीम को जीत दिलाई थी।

Also Read: ड्वेन ब्रावो टी-20 क्रिकेट में इतिहास रचने से एक कदम दूर, दुनिया का कोई गेंदबाज नहीं कर पाया है ऐसा

गांगुली ने स्पोटर्सतक से बात करते हुए कहा, "धोनी को विशाखापट्टनम में नंबर-3 पर खेलने का मौका मिला और उन्होंने शानदार शतक जमाया। उन्हें जब भी ज्यादा ओवर खेलने का मौका मिला है उन्होंने बड़ा स्कोर किया है। सचिन तेंदुलकर अगर नंबर-6 पर खेलते रहते तो वह आज सचिन तेंदुलकर नहीं बनते क्योंकि नीचे आपको कम गेंदें खेलने को मिलती हैं।"

गांगुली ने कहा, "चैलेंजर ट्रॉफी थी, उन्होंने मेरी टीम से सलामी बल्लेबाजी करते हुए शतक बनाया था। मुझे यह पता था। खिलाड़ी तब बनता है जब उसे ऊपर भेजा जाता है, आप निचले ऑर्डर में रखकर किसी को खिलाड़ी नहीं बना सकते। मेरा हमेशा से मानना है कि ड्रेसिंग रूम में बैठ कर आप बड़ा खिलाड़ी नहीं बन सकते। उनमें जिस तरह की काबिलियत थीं, खासकर छक्के मारने की, वो कम होती है।"

बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष ने कहा, "जब मैंने संन्यास लिया तो मैंने कई बार अपने विचार रखे कि धोनी को टॉप ऑर्डर में खेलना चाहिए।"
 


क्रिकेट समाचार टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।