Advertisement
Advertisement

पूर्व भरतीय कोच ने कहा 'टेस्ट क्रिकेट के पुजारी हैं विराट कोहली'

भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने सोमवार को राष्ट्रीय टीम और कप्तान विराट कोहली की टेस्ट क्रिकेट को अपनाने और 'पिछले पांच वर्षो में फॉर्मेट के राजदूत' होने के लिए प्रशंसा की। मुंबई में सीरीज के फाइनल में...

IANS News
By IANS News December 07, 2021 • 10:48 AM
Cricket Image for पूर्व भरतीय कोच ने कहा 'टेस्ट क्रिकेट के पुजारी है विराट कोहली'
Cricket Image for पूर्व भरतीय कोच ने कहा 'टेस्ट क्रिकेट के पुजारी है विराट कोहली' (Image Source: Google)
Advertisement

भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने सोमवार को राष्ट्रीय टीम और कप्तान विराट कोहली की टेस्ट क्रिकेट को अपनाने और 'पिछले पांच वर्षो में फॉर्मेट के राजदूत' होने के लिए प्रशंसा की। मुंबई में सीरीज के फाइनल में विश्व टेस्ट चैंपियंस पर 372 रन की जीत के बाद न्यूजीलैंड को हराकर टीम इंडिया ने आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल किया।

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि अगर कोई टीम पिछले पांच वर्षो में टेस्ट मैच के लिए एक एंबेस्डर रही है, तो यह भारतीय क्रिकेट टीम है। विराट टेस्ट मैच क्रिकेट की पूजा करते हैं, जैसा कि ज्यादातर टीम करते हैं।'

Trending


चार साल तक भारत को कोचिंग देने वाले शास्त्री ने अपने पॉडकास्ट पर जाने-माने लेखक जेफरी आर्चर को बताया, 'अगर आप टीम में किसी से पूछें, तो उनमें से 99 प्रतिशत कहेंगे कि उन्हें टेस्ट मैच क्रिकेट पसंद है। इसलिए, भारत ने पिछले पांच वर्षो में जो किया है, वह हर साल के अंत में दुनिया की नंबर 1 टीम के रूप में बना रहता है।'

शास्त्री ने मुख्य कोच के रूप में अपने शासनकाल के दौरान टेस्ट में टीम की उपलब्धियों को सूचीबद्ध किया। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ एकतरफा विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) की अंतिम हार के बारे में बात की। इस साल इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया में दो श्रृंखला जीतने के लिए भारत की लड़ाई में वापसी हुई।

Also Read: Ashes 2021-22 - England vs Australia Schedule and Squads

शास्त्री ने कहा, 'हम न्यूजीलैंड के खिलाफ एकतरफा डब्ल्यूटीसी फाइनल हार सकते हैं, लेकिन हम पिछले पांच वर्षो से फॉर्मेट पर हावी हैं।'

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement