X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने रैकिंग में किया कमाल, ऑस्ट्रेलिया को हटाकर इंग्लैंड बना नंबर 1

by Saurabh Sharma Oct 03, 2017 • 19:37 PM

दुबई, 3 अक्टूबर (CRICKETNMORE)| भारतीय महिला टीम मंगलवार को जारी इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) की ताजा रैंकिंग में चौथे स्थान पर बनी हुई है। विश्व विजेता इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया को अपदस्थ करते हुए पहले स्थान पर कब्जा जमा लिया है। 

भारतीय महिलाओं ने इसी साल इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप के फाइनल में प्रवेश किया था। फाइनल में उसे मेजबान के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। भारत के खाते में तीन अंकों का इजाफा हुआ है। उसके अब 116 अंक हो गए हैं। 

रैंकिंग में टीम के सभी तीन प्रारूपों के प्रदर्शन को शामिल किया जाता है।हार्दिक पांड्या की गर्लफ्रेंड है बला की खूबसूरत, जरूर देखें

इस रैंकिंग में 2014-15 और 2015-16 सत्र के प्रदर्शन को 50 फीसदी तक तरजीह दी गई है जबकि 2016-17 सत्र के प्रदर्शन को सौ फीसदी तवज्जो मिली है। 

भारतीय टीम की कप्तान मिताली राज ने कहा, "इन बहुमूल्य अंकों को हासिल करना हमारे लिए उपलब्धि है। इन्हें हमने बीते वर्षो में कुछ शानदार प्रदर्शन करने के बाद हासिल किया है, जिसमें विश्व कप भी शामिल है। मैं आश्वस्त हूं कि इससे टीम को आगे और अच्छा प्रदर्शन करने की प्ररेणा मिलेगी। हम न्यूजीलैंड के करीब पहुंच गए हैं और हमारी कोशिश रैंकिंग में नंबर तीन पर आने की होगी।" हार्दिक पांड्या की गर्लफ्रेंड है बला की खूबसूरत, जरूर देखें

इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के समान 128 अंक हैं लेकिन इंग्लैंड की टीम दशमलव अंकों में आस्ट्रेलिया को पहले स्थान से हटाने में कामयाब रही। 

आईसीसी द्वारा जारी बयान के अनुसार हीथर नाइट की कप्तानी वाली इंग्लैंड अब 125 से 128.47 अंकों पर पहुंच गई है।

आस्ट्रेलिया के 128.43 अंक हैं। टीम अक्टूबर 2015 के बाद से पहली बार पहले स्थान से हाथ धो बैठी है। 

इस मामूली अंतर ने अब इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच होने वाली एशेज सीरीज को अहम बना दिया है। आस्ट्रेलिया की टीम इस सीरीज में जीत हासिल कर पहले स्थान पर लौटना चाहेगी। 

इंग्लैंड की कप्तान नाइट ने कहा, "विश्व की नंबर-1 टीम बनना हमारे लिए प्रशंसा की बात है क्योंकि यह बताता है कि हमने कितनी प्रगति की है।"

उन्होंने कहा, "मैं आने वाली चुनौतियों से अच्छी तरह वाकिफ हूं। हम आगे बढ़ रहे हैं और हमारा काम अभी तक खत्म नहीं हुआ है।"