X close
X close
Indibet

आईपीएल 2016: कोहली ने हैदराबाद की मजबूत गेंदबाजी को सराहा

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma
May 30, 2016 • 17:51 PM View: 14023

बेंगलुरु, 30 मई | इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के नौवें संस्करण के फाइनल मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद से हारने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने प्रतिद्वंद्वी टीम की मजबूत गेंदबाजी की सराहना की। बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में हैदराबाद ने बेंगलोर को आठ रनों से हरा कर पहली बार आईपीएल खिताब पर कब्जा जमाया। तीन बार आईपीएल के फाइनल में जगह बनाने वाली बेंगलोर की टीम को हराकर डेविड वॉर्नर की टीम ने यह खिताबी जंग जीती।

स्टेडियम में आई दर्शकों की भीड़ के समर्थन के लिए उनका शक्रिया अदा करते हुए कोहली ने इस बात को स्वीकार किया कि उनके और दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज अब्राहम डिविलियर्स के एक के बाद एक के पलेवियन लौटने के बाद बेंगलोर की टीम संभल नहीं पाई और फाइनल मुकाबला हार गई।

मैच के बाद रविवार को कोहली ने कहा, "निश्चित तौर पर हमने जिस तरह से इस सत्र में खेला, उस पर गर्व है। यह बेंगलुरु के लोगों के लिए था। उन्होंने सत्र के खराब समय में भी हमारा समर्थन किया।" कोहली ने कहा, "अगर हम जीतते, तो अच्छा लगता। मेरा और डिविलियर्स का एक के बाद एक, जल्दी आउट होना टीम के लिए एक बड़ा झटका था। काश, मैं उनके साथ लंबे समय तक टिक पाता।"

इस सत्र में कोहली ने सबसे अधिक रन (973) बनाए। उन्हें ऑरेंज कैप दी गई। उन्होंने कहा कि हैदराबाद की जीत का कारण उनकी मजबूत गेंदबाजी थी।

कोहली ने कहा, "इसका अहसास (ऑरेंज कैप मिलने का) अच्छा है लेकिन परिणाम के दूसरे ओर खड़े रहने पर अच्छा महसूस नहीं हो रहा। हैदराबाद ने अपनी मजबूत गेंदबाजी की बदौलत इस मुकाबले को जीता। मैं जानता हूं कि मैंने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन मैं इसे बरकरार रखना चाहता था।" अपनी बेहतरीन तकनीक और शानदार टाइमिंग के लिए लोकप्रिय दिल्ली के बल्लेबाज ने इस सत्र में चार शतक जड़े। उन्होंने कहा कि उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर मैदान पर उतरने का फायदा मिला और इसलिए वह इतने शतक जड़ पाए। बाद के क्रम में उतरने से यह शायद मुश्किल होता।

कोहली ने कहा, "मैं खुद से हैरान हूं। टूर्नामेंट में लगाए गए छक्कों ने मुझे काफी हैरान किया। मैं इस पुरस्कार से काफी खुश हूं। मैं ज्यादा बात नहीं करना चाहता। जीतने वाली टीम इस स्थान पर होने की हकदार है।" कोहली ने टूर्नामेंट में सबसे अधिक, 38 छक्के जड़े। इस सत्र में सबसे अधिक विकेट (23) लेने वाले युवा तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को पर्पल कैप दी गई। उन्होंने कहा कि यार्कर फेंकने से उन्हें इस टूर्नामेंट में गेंदबाजी करने में काफी मदद मिली।

Agency

Trending



Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo
TAGS