X close
X close

'कायदे में रहोगे तो फायदे में रहोगे', इरफान पठान ने की सीधी बात नो बकवास

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी-20 में भारतीय गेंदबाज़ों ने काफी नो बॉल्स डाली जिसके चलते गेंदबाज़ों खासकर अर्शदीप सिंह की काफी आलोचना की जा रही है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav January 06, 2023 • 15:39 PM

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी-20 में भारत को 16 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में हार के बाद भारतीय गेंदबाज़ों की काफी आलोचना की जा रही है। इस मैच में हर्षल पटेल की जगह प्लेइंग इलेवन में अर्शदीप सिंह को शामिल किया गया लेकिन अर्शदीप की वापसी किसी बुरे सपने से कम नहीं रही। अर्शदीप इस मैच में एक के बाद एक नो बॉल फेंकते रहे और यही कारण था कि अक्सर पूरे 4 ओवर फेंकने वाले अर्शदीप ने इस मैच में केवल दो ही ओवर किए।

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने ये दो ओवर दो स्पेल में फेंके और कुल 5 बार ओवरस्टेप किया यानि 5 नो बॉल डाली। युवा खिलाड़ी ने अपने पहले ओवर में लगातार 3 नो-बॉल फेंकी जिसके चलते कप्तान हार्दिक पांड्या ने उन्हें आक्रमण से हटाकर 19वें ओवर में दोबारा उतारा। हालांकि, इस दौरान भी वही कहानी देखने को मिली और इस ओवर में भी अर्शदीप ने संघर्ष करना जारी रखा और अपने दूसरे ओवर में 2 नो-बॉल फेंकी। उन्होंने अपने दो ओवर के स्पेल में कुल 37 रन लुटाए।

Trending


अर्शदीप की 5 नो-बॉल पर फैंस का काफी गुस्सा फूटा और कई पूर्व क्रिकेटर्स ने भी अर्शदीप की गेंदबाज़ी में मैच प्रैक्टिस की कमी पर जोर डाला। इस दौरान इरफ़ान पठान की प्रतिक्रिया भी सामने आई। भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी ने सीधी बात करते हुए ट्वीट कर दिया उनकी ये बात फैंस को काफी पसंद आ रही है। इरफान ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, "कायदे में रहोगे तो फायदे में रहोगे।"

Also Read: SA20, 2023 - Squads & Schedule

ज़ाहिर है कि अगर अर्शदीप ये नो बॉल्स ना डालते तो शायद भारत को एक ओवर ज्यादा नहीं करना पड़ता और एक बार तो दसुन शनाका भी आउट हो गए थे लेकिन अर्शदीप की नो बॉल ने 19वें ओवर में उन्हें जीवनदान दे दिया। इस दौरान कप्तान हार्दिक पांड्या भी अपना सिर पकड़े हुए नजर आए। शनाका ने इस मैच में भारतीय गेंदबाज़ों की लचर गेंदबाजी का फायदा उठाते हुए 22 गेंद में नाबाद 56 रन बनाकर श्रीलंका को 206/6 के विशाल स्कोर तक पहुंचा दिया और उसके बाद श्रीलंका के गेंदबाजों ने भी अपने कप्तान की मेहनत को बेकार नहीं जाने दिया।