X close
X close

3 खिलाड़ी जिन्हें रिलीज करके फ्रेंचाइजी ने दिखाई समझदारी, मिनी ऑक्शन में मिलेगा बड़ा फायदा

आईपीएल 2023 के लिए तैयारियां शुरू हो चुकी है। ऑक्शन टेबल पर उतरने से पहले सभी टीमों ने बड़े फैसले लिए हैं।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat November 23, 2022 • 18:28 PM

आईपीएल 2023 का मिनी ऑक्शन दिसंबर में हो सकता है। सभी टीमों ने अपने रिटेन और रिलीज खिलाड़ियों की लिस्ट जारी कर दी है। ऑक्शन से पहले कई टीमों ने बड़े फैसले लिए हैं। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे उन 3 खिलाड़ियों के नाम जिन्हें रिलीज करके उनकी फ्रेंचाइजी ने बेहद समझदारी दिखाई और अब उन्हें फायदा मिल सकता है।

जेसन रॉय (Jason Roy)

Trending


इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय को गुजरात टाइटंस ने रिलीज कर दिया है। पिछले साल GT की टीम ने उन्हें बेस प्राइस 2 करोड़ में खरीदा था, लेकिन टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले ही उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया। यह पहला मौका नहीं था, जब इंग्लिश प्लेयर ने ऐसा किया। इससे पहले भी वह कई बार टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले अपना नाम वापस ले चुके थे। यही वजह है रॉय को रिलीज करना एक समझदारी का फैसला है।

बता दें कि जेसन रॉय ने आईपीएल में दिल्ली, गुजरात(लायंस) और हैदराबाद के लिए खेल चुके हैं। उन्होंने आईपीएल में 13 मैचों में 329 रन बनाए हैं।

मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal)

मयंक अग्रवाल पिछले साल पंजाब किंग्स की अगुवाई कर रहे थे, लेकिन इस साल मिनी ऑक्शन से पहले PBKS ने उन्हें रिलीज किया है। मयंक एक अच्छे सलामी बल्लेबाज हैं इसके बावजूद उन्हें रिलीज करना समझदारी है।

दरअसल, पिछले साल पंजाब ने मयंक को मेगा ऑक्शन से पहले 12 करोड़ में रिटेन किया था, लेकिन वह बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके। आईपीएल 2022 में उन्होंने 16.33 की औसत से सिर्फ 196 रन बनाए। अब पंजाब ने उन्हें रिलीज करके जहां अपना पर्स भारी कर लिया है वहीं दूसरी तरफ ऑक्शन में वह मयंक को सस्ते दाम में भी खरीद सकते हैं।

केन विलियमसन (Kane Williamson)

ऑरेंज आर्मी ने कप्तान केन विलियमसन को रिलीज कर दिया है। यह मिनी ऑक्शन से पहले एक अच्छा प्लान है। दरअसल, केन विलियमसन को पिछले साल सनराइजर्स हैदराबाद ने मेगा ऑक्शन से पहले 14 करोड़ में रिटेन किया था।

Also Read: क्रिकेट के अनोखे किस्से

इस सीजन वह ज्यादा रन नहीं बना सके। केन ने 13 मैचों में 19.64 की खराब औसत से सिर्फ 216 रन बनाए। इस दौरान केन का स्ट्राइक रेट भी उनकी औसत की ही तरफ 93.51 का खराब रहा। ऐसे में अब जहां एक तरफ हैदराबाद ने कप्तान को छोड़कर अपना पर्स बड़ा किया है, वहीं दूसरी तरफ वह केन को मिनी ऑक्शन में एक बार फिर सस्ते में टीम के साथ जोड़ भी सकते हैं।