X close
X close
Indibet

VIDEO: वर्ल्ड कप 2011 में नींद की गोलियां खाकर उतरा था साउथ अफ्रीकी विकेटकीपर, नशे की हालत में छोड़े थे 3 कैच

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma
April 06, 2021 • 18:03 PM View: 3897

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2011 के एक मैच के दौरान कुछ ऐसा हुआ था जिसकी उम्मीद शायद ही किसी को होगी। कोई इस बात की कल्पनी भी नहीं कर सकता कि कोई क्रिकेटर खासतौर से विकेटकीपर मैदान पर नींद की गोलियां खाकर नशे की हालत में खेलने के लिए उतरे। लेकिन आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 के दौरान मोर्ने वान विक (Morne van Wyk) मैदान पर नींद की गोलियां खाकर उतरे थे।  

साउथ अफ्रीका के दिग्गज खिलाड़ी जेपी डुमिनी ने इस बात का खुलासा किया है। डुमिनी ने ओकट्रीस्पोर्ट को दिए इंटरव्यू के दौरान कहा, 'हमारा भारत के खिलाफ मैच था। वर्ल्ड कप का मैच होने के कारण दोनों ही टीमों के कड़ा मुकाबला होना था। जहां तक मुझे याद है हमारे विकेटकीपर बल्लेबाज मोर्ने वान विक एंटीहिस्टामिन (Antihistamine) की दवाएं लेते थे, लेकिन नींद की गोलियां भी वह अपने पास ही रखते थे।'

Trending


जेपी डुमिनी ने आगे कहा, 'मोर्ने वान विक से गलती हो गई और एंटीहिस्टामिन और नींद की गोलियां आपस में मिल गईं और उन्होंने मैच शुरू होने के ठीक पहले नींद की गोलियाां खा लीं। मुझे याद है कि मैच के दौरान गेंद उनके बगल से निकल रही थी लेकिन वह बहुत लेट रिएक्शन दे रहे थे जिसके चलते उनसे कैच भी छूट गया था। ऐसा एक बार नहीं बल्कि तीन-तीन बार हुआ था। हम सब अचंभित थे कि मोर्ने कर क्या कर रहे हैं।'

डुमिनी ने आगे कहा, 'मैदान पर वह नशे में दिख रहे थे। मोर्ने को भी बाद में शायद इस बात का अहसास हुआ कि उन्होंने एंटीहिस्टामिन की जगह नींद की गोलियां खा ली हैं। यह बिल्कुल सही है। मैं उन लोगों में हूं, जिनको यह कहानी मालूम है।’ बता दें कि इस मुकाबले को साउथ अफ्रीका ने 3 विकेट से जीता था। आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 के दौरान भारत केवल इसी मैच को हारा था।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

 
BP
LivePools