X close
X close

स्विंग मास्टर भुवनेश्वर कुमार ने आखिरी मैच से पहले न्यूजीलैंड को लेकर दिया चौंकाने वाला बयान

by Saurabh Sharma Oct 28, 2017 • 19:22 PM

कानपुर, 28 अक्टूबर (CRICKETNMORE)| तीसरे वनडे मैच से पहले भारतीय टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने शनिवार को कहा है कि हाल ही में खत्म हुई श्रृंखलाओं (श्रीलंका और आस्ट्रेलिया) की तुलना में न्यूजीलैंड ने उन्हें मौजूदा श्रृंखला में अच्छी चुनौती दी है। भारत और न्यूजीलैंड की टीमें रविवार को यहां के ग्रीन पार्क स्टेडियम में तीसरे और आखिरी वनडे मैच में भिड़ेंगी। 

सीरीज इस समय 1-1 की बराबरी पर है और ऐसे में यह मैच निर्णायक होगा। 

मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में भुवनेश्वर ने कहा, "हाल के दिनों में हमें इस तरह की चुनौती नहीं मिली है और यह छोटी सीरीज भी है, इसिलए आखिरी मैच में दबाव होगा कि हम सीरीज हार भी सकते हैं।"

किवी टीम ने मुंबई में खेले गए पहले मैच में जीत हासिल करते हुए 1-0 की बढ़त ले ली थी, लेकिन भारत ने पुणे में जीत दर्ज कराते हुए 1-1 से बराबरी कर ली। 

ये भी पढ़ें: रनमशीन विराट कोहली न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में बना सकते हैं ये बड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड

उन्होंने कहा, "लेकिन हमने जिस तरह से वापसी की है, इससे हमारी टीम की काबिलियत के बारे में पता चलता है। रविवार के मैच में अहम बात यह होगी कि हम दबाव का किस तरह से सामना करते हैं। हमने पिछले मैच में जिस तरह से खेला था, उसी तरह से इस मैच में खेलने की कोशिश करेंगे।"

लंबी सीरीज और छोटी सीरीज में तुलना के सवाल पर भुवनेश्वर ने कहा, "यह छोटी सीरीज है, लेकिन मानसिकता अन्य सीरीज की तरह ही है। लेकिन जैसा मैंने कहा कि हमें हाल के दिनों में घर में इस तरह की प्रतिस्पर्धा नहीं मिली है, इसलिए हर कोई इस चुनौती के लिए तैयार है।"

भुवनेश्वर के हाथों में जसप्रीत बुमराह के साथ भारत के तेज गेंदबाजी आक्रमण की कमान है। विराट कोहली इन दोनों पर काफी भरोसा करते हैं और अंतिम ओवरों में गेंद इन्हें ही थमाते हैं।

भुवनेश्वर ने कहा, "एक खिलाड़ी के तौर पर मुझे लगता है कि मैंने बीते कुछ वर्षो में काफी सुधार किया है। मैंने अपनी स्विंग को बरकरार रखते हुए गति में सुधार किया है। मैंने अपनी बल्लेबाजी भी सुधारी है।"

भुवनेश्वर ने टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण को भी अपनी सफलता का श्रेय दिया। 

मेरठ के इस गेंदबाज ने कहा, "उन्होंने (भरत अरुण) मुझे काफी कुछ बताया, जिससे मुझे स्विंग वापस हासिल करने में मदद मिली। उनका टीम में योगदान मूल्यवान है।"