X close
X close
Indibet

‘पापा मैं भारत के लिए खेलना चाहता हूं’, उमरान मलिक के पिता ने बताई तेज गेंदबाज के संघर्ष की कहानी

IANS News
By IANS News
November 12, 2021 • 23:57 PM View: 802

जम्मू-कश्मीर के तेज गेंदबाज उमरान मलिक (Umran Malik) ने आईपीएल में हैदराबाद सनराइजर की तरफ से खेलते हुए सनसनी फैला दी थी। 21 साल के युवा गेंदबाज ने आईपीएल के दौरान 150 किमी प्रति घंटे से गेंदबाजी की थी। जिसके कारण उन्हें आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के साथ नेट अभ्यास के लिए भी चुना गया था। इसके अलावा, मलिक को दक्षिण अफ्रीका 'ए' के खिलाफ चार दिवसीय मुकाबले सीरीज के लिए भारत की टीम 'ए' में शामिल किया गया है।

मलिक की इन उपलब्धियों ने उनके पिता अब्दुल राशिद को बेहद खुशी दी है। इस बीच, राशिद ने शुक्रवार को फोन पर बातचीत में आईएएनएस से कहा, "वह मुझसे कहता है, पापा मैं भारत के लिए खेलना चाहता हूं।" हमारी दुआएं हमेशा उनके साथ रही हैं। हम भगवान से प्रार्थना करते हैं कि हमारा बच्चा एक दिन भारत के लिए खेले। अब उनका नाम भारत की टीम ए में आ गया है।

Trending


मुझे उम्मीद है कि भविष्य में उनका नाम भारतीय टीम में भी आ जाएगा। उन्होंने बताया, "वह हमारा बच्चा नहीं है, वह राष्ट्र का बच्चा है। अब हमारी एकमात्र इच्छा उसे अच्छा खेलते हुए देखने की है, जिससे देश गौरवान्वित हो।"

राशिद ने कहा, "हम बेहद खुश हैं। पूरा जम्मू-कश्मीर और भारत इस बच्चे के लिए खुश है। पूरा देश उसकी प्रशंसा कर रहा है। क्योंकि उन्होंने बहुत अच्छी गेंदबाजी की है।

आईपीएल में तेज गेंदबाज टी नटराजन की कोविड-19 पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद मलिक को सनराइजर्स हैदराबाद में जगह दी गई थी। इसके बाद, उन्होंने आईपीएल में अपनी गति से सबको हैरान करते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया। इस बीच, भारतीय कप्तान विराट कोहली सहित कई क्रिकेटरों का ध्यान उनकी ओर गया था।

राशिद ने अपने बेटे की गति का श्रेय ईश्वर को दिया है, जिसे मलिक ने आईपीएल 2021 की शीर्ष दस सबसे तेज गेंदों में अपना नाम दर्ज किया था। उन्होंने अधिकतम 152.95 किलोमीटर प्रति घंटे की गेंद डालकर गेंदबाजों में दूसरे स्थान पर रहे थे।

उन्होंने कहा, "मलिक ने कहीं से कुछ नहीं सीखा। वह उनकी अपनी ताकत है जो वह क्रिकेट अकादमी के साथ-साथ कॉलेज में भी जाकर अभ्यास करते थे। भगवान ने उन्हें अच्छी गेंदबाजी करने की ताकत दी है।"

उन्होंने कहा, "उनमें काफी दम है और वह पूरे दिन क्रिकेट खेलते थे। वह सुबह 10 बजे निकल जाते थे और शाम 7 बजे वापस आते थे। अभ्यास के लिए निकलते समय वह अपने साथ 3-4 बोतल पानी की ले जाते थे। वह कहते थे कि पापा मुझे अभ्यास के लिए जाना है।"

मलिक जम्मू के गुज्जर नगर के एक साधारण परिवार से आते हैं। फल बेचने वाले राशिद का कहना है कि उनका परिवार हमेशा उनके बेटे को क्रिकेट खेलने के लिए समर्थन करता है। वह तीन-चार साल का था जबसे उसकी क्रिकेट में रूचि थी। हमने उसे क्रिकेट खेलने से कभी नहीं रोका। उसे खेल खेलने के लिए जो कुछ भी चाहिए था, हमने उसे वह सब कुछ प्रदान किया।

आईपीएल 2021 में मलिक के प्रदर्शन के बाद राशिद को ढेरों बधाइयां मिली है। "जम्मू के साथ पूरे भारत के लोग बहुत खुश हैं।"

Also Read: T20 World Cup 2021 Schedule and Squads

मलिक के पिता ने कहा, "बच्चे के लिए दुआएं करना, हमारी यही दुआ है कि बच्चा अच्छा खेले और देश का नाम रोशन करे।
 


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo