X close
X close

पैट कमिंस ने की राहुल द्रविड़ जैसी हरकत, 195 पर खड़े रह गए उस्मान ख्वाजा

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में 475/4 पर पारी घोषित कर दी। उनकी इस हरकत के चलते उस्मान ख्वाजा 195 पर नॉटआउट खड़े रह गए।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav January 07, 2023 • 11:12 AM

AUS vs SA 3rd Test: ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच का मज़ार बारिश की वजह से किरकिरा हो चुका है। लगातार हो रही बारिश और खराब रोशनी के कारण पहले दो दिन का खेल देरी से शुरू हुआ, तो वहीं तीसरे दिन तो एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी। इस टेस्ट के दूसरे दिन सारी लाइमलाइट उस्मान ख्वाजा पर ही थी। 

दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलियाई टीम 4 विकेट के नुकसान पर 475 रन बना चुकी थी और सलामी बल्लेबाज़ उस्मान ख्वाजा 195 पर नाबाद थे लेकिन जब तीसरे दिन का खेल ही नहीं हुआ तो सब यही उम्मीद कर रहे थे कि किसी तरह ख्वाजा, जो अपने पहले दोहरे शतक से सिर्फ 5 रन दूर थे, को कप्तान पैट कमिंस दोहरा शतक पूरा करने दें।

Trending


हालांकि, चौथे दिन जब खेल शुरू हुआ तो ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस ने क्रिकेट फैंस को झटका देते हुए ओवरनाइट स्कोर (475/4) पर ही पारी घोषित कर दी और उस्मान ख्वाजा 195 पर ही खड़े रह गए। पैट कमिंस की डेक्लेरेशन ने ना सिर्फ उस्मान ख्वाजा का दिल तोड़ दिया बल्कि सोशल मीडिया पर भी फैंस का पारा बढ़ा दिया। कमिंस की इस डेक्लेरेशन ने फैंस को 2004 वाले राहुल द्रविड़ की याद दिला दी।

जी हां, 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान टेस्ट मैच में भारत के कप्तान राहुल द्रविड़ थे और उस समय उन्होंने भी ऐसे समय पर पारी घोषित की थी जब सचिन तेंदुलकर 194 पर नॉटआउट थे। उस डेक्लेरेशन को लेकर आज भी द्रविड़ की आलोचना की जाती है और इसे द्रविड़ के करियर का एक काला धब्बा माना जाता रहा है।ऐसे में कमिंस का ये फैसला भी उनके कप्तानी करियर का वही काला धब्बा साबित हो सकता है।

Also Read: SA20, 2023 - Squads & Schedule

कमिंस की ये डेक्लेरेशन क्रिकेट इतिहास की तीसरी सबसे खराब डेक्लेरेशन कह सकते हैं। इससे पहले राहुल द्रविड़ की मुल्तान टेस्ट में डेक्लेरेशन और 1960 में वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच खेले गए टेस्ट मैच में जी एलेक्डजे़ंडर की डेक्लेरेशन ने सभी के होश उड़ाए थे। वेस्टइंडीज के कप्तान ने उस मैच में इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पारी को तब घोषित करने का फैसला लिया था जब उनके बल्लेबाज़ फ्रैंक वोरेल 197 पर बल्लेबाज़ी कर रहे थे। ये तीन डेक्लेरेशंस बेशक फैंस भूल गए हों लेकिन शायद ये खिलाड़ी कभी नहीं भूलेंगे।