X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

IPL 2019: कोहली-डी विलियर्स के दम पर आरसीबी ने खोला जीत का खाता,ये बना मैन ऑफ द मैच

by Saurabh Sharma Apr 14, 2019 • 00:07 AM

मोहाली, 14 अप्रैल (CRICKETNMORE)| दुनिया के दो बड़े बल्लेबाजों -विराट कोहली और अब्राहम डी विलियर्स ने शनिवार को अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन कर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को पहली जीत दिला दी। नाबाद 59 की पारी खेलने के लिए एबी डी विलियर्स को मैन ऑफ द मैच चुना गया। 

बैंगलोर ने आई.एस. बिंद्रा स्टेडियम में खेले गए मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को आठ विकेट से हरा इस सीजन में अपनी जीत का खाता खोला। 

लगातार छह हार झेलने वाली बैंगलोर के कप्तान कोहली ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। उसके गेंदबाजों ने पंजाब के अधिकतर बल्लेबाजों को बंधे रखा लेकिन क्रिस गेल को रोकने में असफल रहे, जिनकी नाबाद 99 रनों की पारी के दम पर पंजाब ने 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 173 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया। बैंगलोर ने कोहली और डी विलियर्स की अर्धशतकीय साझेदारी के दम पर इस लक्ष्य को 19.2 ओवरों में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया। 

कोहली ने अपनी 67 रनों की पारी में 53 गेंदों खेलीं जिनमें से आठ को सीमा रेखा के पार भेजा। डी विलियर्स ने नाबाद 59 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 38 गेंदों का सामना किया और पांच चौकों के अलावा दो छक्के जड़े। इन दो दिग्गजों ने दूसरे विकेट के लिए 85 रनों की साझेदारी की। 

कोहली ने पार्थिव पटेल के साथ टीम को तेज शुरुआत दी। पार्थिव हालांकि ज्यादा दूर नहीं जा पाए। पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने चौथे ओवर की पांचवीं गेंद पर 43 के कुल स्कोर पर पार्थिव को पवेलियन भेजा। पार्थिव ने नौ गेंदों पर चार चौकों की मदद से 19 रन बनाए। 

इसके बाद कोहली और डी विलियर्स ने अंगद की तरह अपने पैर विकेट पर जमा लिए। यह दोनों अपनी टीम को जीत की तरफ ले जा रहे थे, लेकिन मोहम्मद शमी ने कोहली को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। कोहली का विकेट 128 के कुल स्कोर पर गिरा। 

यहां से डी विलियर्स को मार्कस स्टोइनिस का साथ मिला। स्टोइनिस ने 16 गेंदों में चार चौकों की मदद से नाबाद 28 रन बनाए और अपनी टीम को जीत दिलाई। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 46 रनों की साझेदारी की। 

इससे पहले, गेल निश्चित ही अपने शतक से चूक गए हों, लेकिन उन्होंने शुरुआत से अंत तक एक छोर संभाले रखते हुए पंजाब को मजबूत स्कोर तक जरूर पहुंचा दिया। गेल के अलावा पंजाब का कोई और बल्लेबाज उनके साथ दूसरे छोर पर टिक नहीं सका और न ही तेजी से रन बना सका। 

गेल ने अपनी पारी में 64 गेंदों का सामना किया और 10 चौकों के अलावा पांच छक्के मारे। इसी के साथ गेल टी-20 में 100 बार 50 से ज्यादा स्कोर करने वाले पहले खिलाड़ी भी बन गए हैं। गेल ने टी-20 में 21 शतक और 79 अर्धशतक जमाए हैं। 

गेल और लोकेश राहुल (18) ने शुरुआत धीमी की। पांच ओवरों में पंजाब ने 36 रन ही बनाए थे, लेकिन गेल ने छठा ओवर लेकर आए मोहम्मद सिराज पर तीन चौके और दो छक्कों की मदद से 24 रन बटोर टीम का स्कोर छह ओवरों में 60 रन कर दिया। 

राहुल ने अगला ओवर लेकर आए युजवेंद्र चहल की पहली ही गेंद पर छक्का मारा। अगली ही गेंद पर एक और बड़ा शॉट करने के प्रयास में राहुल चूक गए और पार्थिव पटेल द्वारा स्टम्पिंग कर दिए गए। 

गेल ने लय पकड़ ली थी। वह तेजी से बड़े शॉट खेल रहे थे। इस बीच चहल ने नौवें ओवर की पांचवीं गेंद पर मयंक अग्रवाल (15) को बेहतरीन तरीके से बोल्ड कर पंजाब को दूसरा झटका दिया। युवा सरफराज खान (15) भी गेल की बराबरी करने की कोशिश में सिराज की गेंद पर पटेल द्वारा लपके गए। 

यहां गेल भी थोड़ा धीमा पड़ गए थे। मोइन अली ने सैम कुरैन (1) को आउट कर पंजाब को चौथा झटका दे दबाव में ला दिया। कुरैन के बाद आए मनदीप सिंह (नाबाद 18) तेजी से रन तो नहीं बना पाए लेकिन उन्होंने गेल को स्ट्राइक देने का अच्छा काम किया। गेल से अंत में और तेजी से रन बनाने की उम्मीद थी लेकिन बैंगलोर के गेंदबाजों ने उन्हें ज्यादा मौके नहीं दिए। 

आखिरी गेंद पर शतक पूरा करने के लिए गेल को पांच रनों की जरूरत थे लेकिन गेल के बल्ले से सिर्फ चौका ही निकला।