X close
X close
Indibet

'ब्रैडमैन' नाम बन गया था अभिशाप, सर डॉन के बेटे ने परेशान होकर बदला था नाम

डॉन ब्रैडमैन (Don Bradman) के नाम का असर उनके बेटे पर इस कदर हावी हो गया था कि उन्हें कुचला हुआ महसूस होने लगा। जिससे निपटने के लिए उन्होंने अपना नाम बदलने का फैसला किया।

By Prabhat Sharma June 04, 2022 • 13:27 PM

सर डॉन ब्रैडमैन (Don Bradman) ऐसा खिलाड़ी जिसके नाम की तूती क्रिकेट के मैदान पर जन्म-जन्मांतर बोलती ही रहेगी। सर डॉन ब्रैडमैन क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज़्यादा औसत वाले बल्लेबाज हैं। 99.94 की औसत कल्पना के परे है। सीधे शब्दों में समझें तो संन्यास के लगभग सात दशक बाद भी सर डॉन ब्रैडमैन के औसत के आसपास कोई क्रिकेटर नहीं पहुंचा। सर डॉन ब्रैडमैन के नाम में जो ब्रैडमैन शब्द है वो काफी भारी है और उनकी प्रसिद्धि का प्रभाव उनके वंशवृक्ष पर भी पड़ा।

सर डॉन ब्रैडमैन के बेटे जॉन ब्रैडमैन को अपने पिता के नाम ब्रैडमैन की वजह से हदपार अंटेशन मिलने लगा था जिससे वो काफी प्रभावित और परेशान हुए।

Trending


जॉन की बेटी ग्रेटा ब्रैडमैन ने कहा,'जब लोग बचपन में उनके पास अक्सर आते थे, तो पहला सवाल होता था क्या आप बड़े होकर अपने पिता की तरह एक खिलाड़ी बनने जा रहे हैं?' जिसके बाद सर डॉन ब्रैडमैन के बेटे जॉन ब्रैडमैन ने तय किया कि इस फेम से निपटने का सबसे अच्छा तरीका अपना नाम बदलना है।

जॉन ब्रैडमैन जब 30 साल के होने वाले थे तब उन्होंने अपना नाम बदलकर जॉन ब्रैडसन कर लिया। जॉन की पूर्व पत्नी जूडिथ ब्रैडसन ने कहा था, 'जॉन ने महसूस किया कि उन्होंने अपना व्यक्तितव खो दिया है। लोगों ने उन्हें केवल और केवल डॉन ब्रैडमैन के बेटे के रूप में देखा जो उन्हें पूरी तरह से कुचल रहा था।'

डॉन ब्रैडमैन के बेटे ने कहा, 'मेरे पिता ने एक मित्र को कुछ पत्र लिखे जिसमें उन्होंने मेरे नाम बदलने पर अपनी पीड़ा व्यक्त की थी। जो इस तथ्य को दर्शाता है कि यह उनके लिए कठिन रहा होगा।' जैसे-जैसे टॉम और ग्रेटा (जॉन ब्रैडमैन की पहली पत्नी से हुए बच्चे) बड़े होते गए, सर डॉन का स्वास्थ्य खराब होता जा रहा था और जॉन ब्रैडमैन और उनके नए साथी मेगन अपने बेटे निकोलस को जन्म देने वाले थे।

यह भी पढ़ें: 'इंटेलीजेंस एजेंसी का मानना IPL के रिजल्ट में धांधली हुई', सुब्रमण्यम स्वामी बोले फिक्स था रिजल्ट

इसके बाद जॉन ने अपना नाम वापस ब्रैडमैन में बदलने की संभावना के बारे में गंभीरता से सोचना शुरू किया और उन्होंने ऐसा किया भी। बता दें कि सर डॉन ब्रैडमैन ने 52 टेस्ट मैचों की 80 पारी में 99.94 की औसत के साथ 6996 रन बनाए थे। इस दौरान उनके बल्ले से 29 शतक निकले वहीं उनका बेस्ट स्कोर 334 रनों का था।

IB

Win Big, Make Your Cricket Prediction Now