X close
X close
Indibet

'मेरा यकीन करो स्ट्रांग होने का दिखावा करना कमजोर होने से भी बदतर है'

विराट कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करने को तैयार हैं। 28 अगस्त को पाकिस्तान के खिलाफ विराट बैट के साथ जलवे बिखरते नज़र आएंगे।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat August 30, 2022 • 16:18 PM

भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज़ विराट कोहली लंबी छुट्टी के बाद अब इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करने को तैयार हैं। एशिया कप में 28 अगस्त को विराट पाकिस्तान के खिलाफ मैदान पर जलवे बिखरते नज़र आएंगे, लेकिन इससे पहले विराट कोहली ने स्टार स्पोर्ट्स के साथ बातचीत करते हुए अपना दिल खोल दिया है। कोहली ने कहा कि वह बीते समय में यह महसूस कर चुके हैं कि वह खुद को फेक इंटेंसिटी दिखाने के लिए मजबूर कर रहे थे। उन्होंने कहा खुद को स्ट्रांग दिखाना कमजोर होने से भी ज्यादा बदतर है।

स्टार स्पोर्ट्स ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर विराट कोहली से जुड़े इंटरव्यू का एक अंश साझा किया है जिसमें स्टार बल्लेबाज़ दिल खोलकर बातचीत करते नज़र आ रहे हैं। विराट ने कहा, '10 साल में पहली बार मैंने 1 महीने तक बैट नहीं छुआ। मुझे महसूस हुआ कि मैं खुद को एक फेक इंटेंसिटी दिखाने की कोशिश कर रहा था। मैं खुद को यकीन दिलाने की कोशिश कर रहा था कि नहीं, तुम स्ट्रॉग हूं। लेकिन बॉडी रोकने को कह रही थी। मेरा दिमाग कह रहा था कि ब्रेक लो और स्टेप बैक करो।'

Trending


विराट कोहली आगे बोले, 'मैं उन लोगों में से हूं जो मानसिक रूप से काफी स्ट्रांग दिखते हैं और मैं हूं भी। लेकिन सभी की एक लिमिट होती है और आपको उसे पहचानना होता है। वरना चीज़ें आपके लिए अनहेल्थी हो सकती हैं।' विराट कोहली ने साफ कहा कि उनके कठिन समय ने उन्हें काफी कुछ सीखाया है।

Also Read: Asia Cup 2022 Scorecard

इंडियन टीम के स्टार बल्लेबाज़ ने यह स्वीकारा कि वह मानसिक रूप से डाउन महसूस कर रहे थे। विराट ने इस पर मुद्दे पर भी अपनी बात रखी। वह बोले मैं यह स्वीकार करने में शर्म महसूस नहीं करता कि मैं मानसिक रूप से कमजोर महसूस कर रहा था। ऐसा महसूस करना नॉर्मल है, लेकिन हम इस पर बात करने में हिचकिचाते हैं। लेकिन मेरा यकीन करो स्ट्रांग होने का दिखावा करना कमजोर होने से भी ज्यादा खराब है।  


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now