X close
X close

'अच्छा हुआ शाकिब नॉन-स्ट्राइकर था', BPL में हुई थी घटिया अंपायरिंग की हदें पार; देखें VIDEO

बांग्लादेश प्रीमियर लीग अक्सर ही खराब अंपायरिंग के कारण विवादों में रही है। इसी से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat January 10, 2023 • 10:12 AM

BPL: क्रिकेट मैच में अंपायर का फैसला आखिरी फैसला होता है। कई बार टीमें डीआरएस की मदद से यह चेंज कर सकती हैं, लेकिन अक्सर ऐसा नहीं होता। बांग्लादेश में BPL 2023 यानी बांग्लादेश प्रीमियर लीग खेली जा रही है जिसमें खराब अंपायरिंग देखने को मिली। हाल ही में एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन अंपायर के खराब फैसले पर बेहद नाराज दिखे थे। इसी बीच अब बीपीएल से जुड़ा एक पुराना वीडियो भी सामने आया है जिसमें खराब अंपायरिंग की हदें पार होती दिखी है।

दरअसल, यह वायरल वीडियो बांग्लादेश प्रीमियर लीग के पिछले सीजन का है। वीडियो में देखा जा सकता है कि गेंदबाज़ बल्लेबाज़ को बॉल डिलीवर करता है जिसके बाद वह गेंद बल्लेबाज के बैट से टकराकर जमीन पर लगकर बाउंस लेती है और विकेट के पीछे चली जाती है। विकेटकीपर दौड़कर गेंद को पकड़ता है, लेकिन इस दौरान अंपायर अपने दोनों हाथ खोलकर वाइड का इशारा कर देता है।

Trending


अंपायर का यह फैसला देखकर सभी हैरान रह जाते हैं और गेंदबाज़ उनसे बहस करता नज़र आता है। हालांकि विकेटकीपर गेंदबाज़ को ऐसा करने से रोकता है। अंपायर के हाव-भाव से ऐसा लगता है मानो वह गेंद को नहीं दे सका, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने वाइड गेंद का इशारा किया। यही वजह है अब सोशल मीडिया पर फैंस शाकिब के अंपायर से भिड़ने के बाद इस पुराने वीडियो को भी शेयर कर रहे हैं।

Also Read: SA20, 2023 - Squads & Schedule

शाकिब भी थे अंपायर से भिड़े: बांग्लादेश प्रीमियर लीग में कई बार खिलाड़ियों को अंपायर के खराब फैसले के कारण गुस्सा होते देखा गया है। यह घटना बांग्लादेश प्रीमियर लीग के तीसरे मैच फॉर्च्यून बारीशल और सिल्हट स्ट्राइकर्स के बीच मुकाबले में देखने को मिली। फॉर्च्यून बारीशल की पारी के 16वें ओवर में स्ट्राइकर्स के पेसर रेजूर रहमान गेंदबाजी कर रहे थे और इस ओवर की चौथी गेंद रहमान ने बाउंसर डाली। इस गेंद को खेलने के लिए शाकिब स्ट्राइक पर थे और उन्हें लगा कि गेंद उनके सिर के ऊपर से गई है और गेंद को वाइड दिया जाना चाहिए। लेकिन ऐसा हुआ नहीं और शाकिब गुस्से से आग बबुला हो गए।