X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

महान गौतम गंभीर को उनके इन 10 ऐतिहासिक कारनामों के लिए याद किया जाएगा

by Vishal Bhagat Dec 05, 2018 • 11:44 AM

महान गौतम गंभीर ने आखिरकार क्रिकेट के हर एक फॉर्मेट से संन्यास लेने का फैसला कर दिया। गंभीर ने भारतीय क्रिकेट के लिए जो योगदान दिया उसे हमेशा याद किया जाएगा।

ऐसे में आईए जानते हैं महान गंभीर के 10 ऐसा ऐतिहासिक कारनामें के बारे में जिसने हर किसी का दिल जीत लिया था।

साल 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में अहम पारी

साल 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ 75 रन की अहम पारी खेली जिसके कारण ही भारतीय टीम खिताब जीतने में सफल रही थी।

भारत को दूसरा दफा विश्व विजेता बनानें में गंभीर का अहम योगदान

2011 के वर्ल्ड कप के फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ गंभीर के द्वारा 97 रन की पारी को आज भी फैन्स नहीं भूले हैं। जिस वक्त भारत के टॉप ऑर्डर सचिन समेत सहवाग फ्लॉप हुए उस मुश्किल हालात में 97 रन की पारी खेल भारत को विश्व विजेता बनानें में अहम योगदान दिया।

गौतम गंभीर ऐसा करने वाले अकेले भारतीय बल्लेबाज

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में भारत के तरफ से गंभीर लगातार 5 शतक जमाने वाले इकलौते भारतीय बल्लेबाज हैं। गंभीर के अलावा ऐसा कारनामा विश्व क्रिकेट में सिर्फ ब्रेडमैन, जैक कैलिस और मोहम्मद यूसुफ ही कर पाए हैं।

गंभीर की कप्तानी में भारत रहा है सुपरहिट

महान गौतम गंभीर ने यूं तो अपने इंटरनेशनल करियर में ज्यादा कप्तानी नहीं की लेकिन जब कभी भी वो कप्तान बनकर मैदान पर उतरे तो हमेशा अजेय रहे। गंभीर ने टीम इंडिया के लिए 6 मैच कप्तानी में की और भारत को सभी 6 मैच में जीत मिली।

हमेशा देश की भलाई के लिए आवाज उठाई
भले ही गौतम गंभीर पिछले 2 साल से इंटरनेशनल क्रिकेट से दूर रहे लेकिन देश के लिए कुछ करने का जज्बा कभी कम नहीं हुआ। गंभीर ने हमेशा सोशल मुद्दों को लेकर अपनी आवाज बुलंद की और खासकर सैनिकों के लिए अपनी आवाज हमेशा उठाते रहे हैं।

ट्रांसजेंडर्स के समर्थन में खुद पहन ली साड़ी

गौतम गंभीर दूसरों की हमेशा मदद करने के लिए आगे रहे। उन्होंने ट्रांसजेंडर्स का समर्थन कर उनके साथ रक्षाबंधन का पर्व मनाया और खुद भी साड़ी पहन कर समाज को आईना दिखाने का काम कर हर किसी का दिल जीत लिया।

जब गंभीर ने विराट के लिए दिखाई ऐसी दरियादिली  जिसने हर किसी का दिल जीत लिया

साल 2009 में जब विराट कोहली ने अपने वनडे करियर का पहला शतक श्रीलंका के खिलाफ बनाया था तो उस यादगार मैच में गंभीर ने 150 रन की पारी खेली थी। मैच के बाद मैन ऑफ द मैच के खिताब गंभीर को मिला लेकिन अवार्ड लेते समय ही उन्होंने अपना मैन ऑफ द मैच का खिताब नए - नए विराट कोहली को दे दिया। 

अपनी कप्तानी में आईपीएल में केकेआर को 2 दफा दिलाई खिताब

गौतम गंभीर की कप्तानी में केकेआर की टीम 2 दफा आईपीएल का खिताब जीतने में सफल रही। गंभीर ने केकेआर की कप्तानी उस दौर में करनी शुरू की थी जब कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम को कमजोर आंका जा रहा था। गंभीर ने हर खिलाड़ियों के अंदर लड़ने की क्षमता विकसीत की बल्कि हर खिलाड़ियों को खास परफॉर्मेंस करने के लिए भी प्रेरित किया।

साल 2009 में गंभीर ने टेस्ट में किया कमाल

साल 2009 में गंभीर टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 बल्लेबाज बने। इसी साल गंभीर को आईसीसी  ने टेस्ट प्लेयर ऑफ द अवॉर्ड से नवाजा।

साल 2009 में नेपियर टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ गंभीर ने 643 मिनट कर बल्लेबाजी की जो उनके बेहतरीन टेस्ट बल्लेबाजी की कला को दर्शाता है।

चार टेस्ट सीरीज में 300 से ज्यादा रन बनाने वाले गौतम गंभीर एकमात्र भारतीय बल्लेबाज हैं। जो आजकर एक रिकॉर्ड है। साल 2008 में गौतम गंभीर को अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया।