Advertisement
Advertisement

जूनियर वर्ल्ड बॉक्सिंग: 12 भारतीय मुक्केबाज फाइनल में

Jr World Boxing C: नई दिल्ली, 2 दिसंबर (आईएएनएस) भारत के जूनियर मुक्केबाजों ने आईबीए जूनियर विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा और येरेवन, आर्मेनिया में शानदार प्रदर्शन के बाद उनमें से 12 मुक्केबाजों ने फाइनल में प्रवेश किया।

Advertisement
IANS News
By IANS News December 02, 2023 • 19:26 PM
Jr World Boxing C'ships: 12 Indian pugilists storm into the finals
Jr World Boxing C'ships: 12 Indian pugilists storm into the finals (Image Source: IANS)
Jr World Boxing C:

नई दिल्ली, 2 दिसंबर (आईएएनएस) भारत के जूनियर मुक्केबाजों ने आईबीए जूनियर विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा और येरेवन, आर्मेनिया में शानदार प्रदर्शन के बाद उनमें से 12 मुक्केबाजों ने फाइनल में प्रवेश किया।

अमीषा (54 किग्रा) और पायल (48 किग्रा) ने रोमानिया की ट्रिगोस बुकुर रोशियो और कजाकिस्तान की बिबोलसिंकीज़ी सिला के खिलाफ टीम इंडिया के लिए दिन की विजयी शुरुआत की। दोनों ने सर्वसम्मति से 5-0 से मुकाबला जीता।

प्राची टोकस (80+किग्रा) ने रूस की ओसिपोवा मारिया पर प्रभावशाली प्रदर्शन किया, जिससे रेफरी को जीत हासिल करने के लिए पहले दौर में ही मुकाबला रोकना।

दूसरी ओर, मेघा (80 किग्रा) ने ताकत और शक्ति का समान प्रदर्शन करते हुए चीनी ताइपे की त्सेंग एन ची के खिलाफ जीत हासिल की। रेफरी ने तीसरे राउंड में मुकाबला रोक दिया।

विनी (57 किग्रा) आकांशा (70 किग्रा) और सृष्टि (63 किग्रा) ने अपने विरोधियों से बेहतर प्रदर्शन करते हुए 5-0 से सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल कर फाइनल में प्रवेश किया। विनी का मुकाबला ग्रीस की कांतजारी ओरियाना से था, जबकि आकांशा और सृष्टि का मुकाबला क्रमश: आयरलैंड की मैकडोनाग मैरी और कजाकिस्तान की के अलीना से था।

निशा (52 किग्रा) ने पहले दौर में शुरुआती प्रभुत्व के बाद संघर्ष किया, लेकिन जल्द ही रूस की सिक्सटस डायना पर 4-1 से प्रभावशाली जीत दर्ज की।

लड़कों ने दमदार प्रदर्शन किया और पांच में से चार मुक्केबाजों ने जीत हासिल की। दो दिग्गज हार्दिक पंवार (80 किग्रा) और हेमंत सांगवान (80+ किग्रा) ने बेलारूस के आर आंद्रेई और आर्मेनिया के के तिगरान के खिलाफ 5-0 की सर्वसम्मत निर्णय से आसान जीत के साथ फाइनल में प्रवेश किया।

जतिन (54 किग्रा) का मुकाबला रूस के के. पावेल से हुआ जो एक पल के लिए अधिक प्रभावशाली मुक्केबाज लग रहे थे लेकिन जतिन ने जल्द ही खेल पर नियंत्रण कर लिया और 4-1 से जीत अपने पक्ष में कर ली।

साहिल को रूस के डी. व्लादिमीर के खिलाफ कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा क्योंकि दोनों मुक्केबाज एक-दूसरे की चाल और पलटवार की भविष्यवाणी करने में तेज थे। ऐसा लग रहा था कि मुकाबला कहीं भी जा सकता है, लेकिन अंततः साहिल को 3-2 के विभाजित फैसले से जीत मिली।

नेहा (46 किग्रा), निधि (66 किग्रा), परी (50 किग्रा), कृतिका (75 किग्रा) और सिकंदर (48 किग्रा) ने कांस्य पदक के साथ अपना अभियान समाप्त किया।

फाइनल रविवार और सोमवार को खेला जाएगा।


Advertisement
Advertisement
Advertisement