चौथे वनडे में श्रीलंका से साउथ अफ्रीका के मिली हार लेकिन क्विंटन डी कॉक ने बनाया ये खास रिकॉर्ड
X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

चौथे वनडे में श्रीलंका से साउथ अफ्रीका के मिली हार लेकिन क्विंटन डी कॉक ने बनाया ये खास रिकॉर्ड

by Vishal Bhagat Aug 09, 2018 • 16:38 PM

9 अगस्त। मैन आफ द मैच दासुन शनाका (65) और कुसल परेरा (51) के अर्धशतकों के बाद सुरंगा लकमल (46/3) के आखिरी ओवर में किए गए कीफायती गेंदबाजी की बदौलत श्रीलंका ने पांच मैचों की वनडे सीरीज के चौथे मैच में दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ लुइस नियम के तहत तीन रन से हरा दिया। इस जीत के साथ ही श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लगातार 11 मैचों में हारने के क्रम को तोड़ दिया। मेहमान टीम सीरीज में 3-1 की बढ़त बनाए हुए है। 

  दिनेश कार्तिक की वाइफ दीपिका हैं बहुत खूबसूरत, देखें PICS  

यहां पल्लीकेले इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में बुधवार रात को खेले गए वर्षा बाधित मैच में मेजबान श्रीलंका ने टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करते हुए 39 ओवर में सात विकेट पर 306 रन का मजबूत स्कोर बनाया। 

दक्षिण अफ्रीका की टीम जब लक्ष्य का पीछा करने उतरी तो बारिश शुरू हो गई। बारिश खत्म होने के बाद मेहमान टीम को 21 ओवर में 191 रन का संसोधित लक्ष्य दिया गया, लेकिन वह नौ विकेट पर 189 रन ही बना सकी। 

दक्षिण अफ्रीका को एक समय 10 ओवर में 69 रन चाहिए था और उसके सात विकेट शेष थे। मेहमान टीम को आखिरी ओवर में जीत के लिए सात रन की दरकार थी, लेकिन सुरंगा लकमल की गेंदबाजी के सामने टीम चार रन ही बना सकी।

दक्षिण अफ्रीका के लिए हाशिम अमला ने सर्वाधिक 40, ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने 38 और कप्तान तथा विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक ने 23 रन बनाए। 

श्रीलंका की ओर से लकमल के अलावा तिसारा परेरा ने दो जबकि अकिला धनंजय, दासुन शनाका और धनंजय डी सिल्वा ने एक-एक विकेट लिए। 

इससे पहले, मेजबान श्रीलंका ने 39 ओवर में सात विकेट पर 306 रन का मजबूत स्कोर बनाया। नवंबर 2016 के बाद से अपना पहला वनडे खेल रहे शनाका ने 34 गेंदों पर चार चौके और पांच छक्के लगाए। 

परेरा ने 36 गेंदों पर छह चौके और दो छक्के उड़ाए। तिषारा परेरा ने 45 गेंदों पर तीन चौके और दो छक्कों की मदद से नाबाद 51 रन की पारी खेली। उपुल थरंगा ने 36 और निरोशन डिकवेला ने 34 रन का योगदान दिया। 

दक्षिण अफ्रीका के लिए लुंगी एनगिदी और ड्यूमिनी ने दो-दो जबकि एंडिले फेहलुकवायो, विलेम मुल्डर और सीरीज में अपना पहला मैच खेल केशव महाराज ने एक-एक विकेट लिए।