X close
X close

आकाश चोपड़ा ने कहा, अगर मेगा ऑक्शन हुआ तो एमएस धोनी को रिलीज कर दे चेन्नई सुपर किंग्स

By Saurabh Sharma
Nov 17, 2020 • 14:24 PM

पूर्व भारतीय बल्लेबाज आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने कहा है अगर इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के अगसे सीजन से पहले मेगा ऑक्शन होता है तो चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को एमएस धोनी (MS Dhoni) को रिटेन नहीं करना चाहिए। 

चोपड़ा ने धोनी को रिटेन ना करने का कारण बताते हुए कहा कि सीएसके उन्हें रिटेन करती है तो उसे सीधे 15 करोड़ रुपये के नुकसान होगा। चेन्नई को धोनी को रिलीज कर के उन्हें राइट टू मैच कार्ड से दोबारा टीम में शामिल करना चाहिए। इससे चेन्नई को फायदा होगा एक अच्छी टीम बनाने में मदद मिलेगी।

Also Read: WI के स्टार बल्लेबाज निकोलस पूरन ने अपनी गर्लफ्रेंड से की सगाई, कहा 'मैंने तुम्हें पा ही लिया'

चोपड़ा ने अपने आधिकारिक फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट वीडियो में कहा, “ मुझे लगता है कि सीएसके को मेगा ऑक्शन से पहले एमएस धोनी को रिलीज कर देना चाहिए, अगर मेगा ऑक्शन होता है तो वह खिलाड़ी तीन साल तक आपके साथ रहेगा। लेकिन धोनी आपके साथ तीन साल तक रहेंगे ? मैं नहीं कह रहा कि धोनी को मत रखिए, वह अगला आईपीएल खेलेंगे, लेकिन अगर आप उन्हें रिटेन खिलाड़ी के तौर पर रखते हैं तो आपको उन्हें 15 करोड़ रुपये देने होंगे।”

चोपड़ा ने आगे कहा, “ अगर धोनी आपके साथ तीन साल तक नहीं रहते और 2021 के सीजन में ही खेलते हैं तो आपको 2022 के सीजन में 15 करोड़ रुपये बचेंगे, लेकिन आपको उस समय 15 करोड़ के योग्य वाला खिलाड़ी मिलेगा। मेगा ऑक्शन का सबसे बड़ा फायदा होता है कि अगर आपके पास पैसा हो तो आप बड़ी टीम बना सकते हैं।  अगर आप मेगा ऑक्शन के लिए धोनी को रिलीज कर देते हैं तो आप उन्हें राइट टू मैच कार्ड से खरीद सकते हैं और बाकी बचे पैसों से आप सही खिलाड़ियों को चुन सकते हैं।  इससे चेन्नई सुपर किंग्स की टीम को फायदा होगा।”

चोपड़ा के अनुसार आईपीएल की मौजूदा 8 टीमों में से चेन्नई सुपर किंग्स को मेगा ऑक्शन की सबसे ज्यादा जरूरत है। शेन वॉटसन ने आईपीएल के तुरंत बाद संन्यास का ऐलान कर दिया था और धोनी ने संकेत दिए हैं कि वह अगले सीजन से पहले टीम में कई बदलाव करेंगे। बता दें कि चेन्नई की टीम 14 मैचों में 12 पॉइंट्स के साथ सातवें नंबर पर रही थी। पहली बार ऐसा हुआ जब चेन्नई की टीम प्लेऑफ में नहीं पहुंची।