X close
X close

कपिल देव का भारत के युवा दिग्गजों पर आया ये खास बयान, जरूर जाने

by Vishal Bhagat Nov 14, 2017 • 21:41 PM

कोलकाता, 14 नवंबर | भारत को पहला क्रिकेट विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव ने मंगलवार को कहा है कि मौजूदा भारतीय टीम की फिटनेस का पूरा श्रेय कोहली को जाता है। 1983 में भारत को विश्व विजेता बनाने वाले कप्तान कपिल ने यहां पहले जगमोहन डालमिया मेमोरियल लेक्चर में यह बात कही। 

कोहली और पूरी भारतीय टीम की मौजूदगी में कपिल ने कहा, "सौरव (गांगुली) ने मुझसे मौजूदा टीम के बारे में बोलने को कहा, न कि सिर्फ डालमिया पर। विराट के कंधों पर खेल को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है।"

हार्दिक पांड्या की गर्लफ्रेंड है बेहद खूबसूरत, देखकर दिवाने हो जाएगें आप  

विश्व विजेता कप्तान ने कहा, "आप हीरो और डालमिया के समान हो। आप चीजों को बदल सकते हैं। आपने मौजूदा टीम की फिटनेस में ऐसा किया है और यह ऐसी चीज है, जिस पर मुझे गर्व है।"

इस मौके पर श्रीलंका क्रिकेट टीम भी मौजूद थी। 

उन्होंने कहा, "मैं जब क्रिकेट के बारे में बात करता हूं तो थोड़ा नर्वस महसूस करता हूं। मेरे हिसाब से डालमिया हीरो थे। एक (कोहली) हीरो मैदान पर है और एक मैदान के बाहर। हम क्रिकेट खिलाड़ी के तौर पर जो खेल का आनंद उठा रहे हैं, उसका कारण वो हैं।"

उन्होंने कहा, "पिछले 50 वर्षो में विश्व में, वे सभी खेल प्रशासकों में सर्वश्रेष्ठ थे। हम हमेशा इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया की तरफ देखते थे। वे कहा करते थे कि हमें भी ऐसे भत्ते मिल सकते हैं।"

कपिल के मुताबिक, "आपके पास पैसा होना बेहद जरूरी है। हम क्रिकेट खिलाड़ी कम से कम 10-15 साल तक खेलते हैं। हर कोई सचिन तेंदुलकर नहीं बनता। उन्होंने खेल के लिए जो किया, उसके कारण वह मेरे हीरो हैं।"

कपिल ने कहा, "पहले, उन्होंने मुझ पर ज्यादा प्रभाव नहीं छोड़ा। मैं उनसे लगातार मिलता रहा। हम ज्यादा अच्छे वक्ता नहीं थे, लेकिन कोई समझ नहीं सकता कि क्या सही है और क्या गलत। वह उन इंसानों में से थे जो जानते थे की कौन-सी बात कहां की जानी है।" डालमिया अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष रहे हैं। 

इस मौके पर कपिल के अलावा भारतीय टीम के एक और पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन भी मौजूद थे। 
भारत को पहला क्रिकेट विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव ने मंगलवार को कहा है कि मौजूदा भारतीय टीम की फिटनेस का पूरा श्रेय कोहली को जाता है। 1983 में भारत को विश्व विजेता बनाने वाले कप्तान कपिल ने यहां पहले जगमोहन डालमिया मेमोरियल लेक्चर में यह बात कही। 

कोहली और पूरी भारतीय टीम की मौजूदगी में कपिल ने कहा, "सौरव (गांगुली) ने मुझसे मौजूदा टीम के बारे में बोलने को कहा, न कि सिर्फ डालमिया पर। विराट के कंधों पर खेल को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है।"

विश्व विजेता कप्तान ने कहा, "आप हीरो और डालमिया के समान हो। आप चीजों को बदल सकते हैं। आपने मौजूदा टीम की फिटनेस में ऐसा किया है और यह ऐसी चीज है, जिस पर मुझे गर्व है।"

इस मौके पर श्रीलंका क्रिकेट टीम भी मौजूद थी। 

उन्होंने कहा, "मैं जब क्रिकेट के बारे में बात करता हूं तो थोड़ा नर्वस महसूस करता हूं। मेरे हिसाब से डालमिया हीरो थे। एक (कोहली) हीरो मैदान पर है और एक मैदान के बाहर। हम क्रिकेट खिलाड़ी के तौर पर जो खेल का आनंद उठा रहे हैं, उसका कारण वो हैं।"

उन्होंने कहा, "पिछले 50 वर्षो में विश्व में, वे सभी खेल प्रशासकों में सर्वश्रेष्ठ थे। हम हमेशा इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया की तरफ देखते थे। वे कहा करते थे कि हमें भी ऐसे भत्ते मिल सकते हैं।"

कपिल के मुताबिक, "आपके पास पैसा होना बेहद जरूरी है। हम क्रिकेट खिलाड़ी कम से कम 10-15 साल तक खेलते हैं। हर कोई सचिन तेंदुलकर नहीं बनता। उन्होंने खेल के लिए जो किया, उसके कारण वह मेरे हीरो हैं।"

हार्दिक पांड्या की गर्लफ्रेंड है बेहद खूबसूरत, देखकर दिवाने हो जाएगें आप  

कपिल ने कहा, "पहले, उन्होंने मुझ पर ज्यादा प्रभाव नहीं छोड़ा। मैं उनसे लगातार मिलता रहा। हम ज्यादा अच्छे वक्ता नहीं थे, लेकिन कोई समझ नहीं सकता कि क्या सही है और क्या गलत। वह उन इंसानों में से थे जो जानते थे की कौन-सी बात कहां की जानी है।" डालमिया अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष रहे हैं।  इस मौके पर कपिल के अलावा भारतीय टीम के एक और पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन भी मौजूद थे।