"
X close
X close

शोएब अख्तर बोले धोनी एक 'युग' का नाम था, भारत को बनाया सर्वश्रेष्ठ टीम

By Shubham Shah
Aug 17, 2020 • 21:41 PM

17 अगस्त,नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा है की धोनी एक 'युग' का नाम था। उन्होंने भारत को सर्वश्रेष्ठ टीम बनाने का श्रेय धोनी को दिया।  महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास लेने के बाद शोएब अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से ये बातें  कहीं। उन्होंने कहा की धोनी एक मैच विनर थे, एक शानदार फिनिशर थे, एक बेजोड़ कप्तान थे। भगवान जानते है कि धोनी के अंदर और कितने गुण थे। वो उन अच्छे इंसानों में से एक थे जिसके साथ मैंने क्रिकेट खेला है।

शोएब अख्तर ने कहा की मुझे अभी भी आशा है कि उनको एक फेयरवेल मैच खेलने को मिलेगा। ऐसा नहीं है कि धोनी को कोई अवॉर्ड चाहिए क्योंकि वो भारत के लिए खेलकर और टीम की कप्तानी कराके पहले ही अपने सपनों की साकार चुके है। 

Also Read: इरफान पठान ने गेंदबाजों को किया सचेत,बोले IPL में धोनी का सामना करते वक्त सावधान रहना होगा

अख्तर ने साल 2004 के भारत के पाकिस्तान दौरे को याद करते हुए कहा की मुझे याद है कि उस सीरीज में धोनी ने कुछ बेजोड़ पारियां खेली थी और पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने उन्हें उनके बाल ना कटवाने की सलाह दी थी।

अख्तर ने फैसलाबाद में हुए एक मैच को याद करते हुए कहा कि मुझे यकीन था की मैं अच्छी गेंदबाजी कर रहा हूँ और मैं धोनी को आउट कर दूंगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने मेरे गेंदों को नहीं बख्सा और करारे शॉट लगाए और ढेरों रन बटोरें। उन्होंने कहा कि मैंने उस पारी में सचिन तेंदुलकर को आउट कर दिया था। पिच सपाट थी और मैंने कई बाउंसर मारे लेकिन धोनी मेरे काबू में नहीं आ रहे थे। मैंने उनके सामने एक बीमर भी डाली ताकि वो पीछे हटे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। बाद में मैंने इस घटना के लिए धोनी से माफी भी मांगी थी।

अख्तर ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा की वो एक बहादुर बल्लेबाज थे और किसी भी तरह के तेज गेंदबाज और उनके तीखी गेंदों से डरते नहीं थे। उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता था कि कौन गेंदबाजी कर रहा है। वो चोट की बिना परवाह किये तेज गेंदबाजों के सामने एकदम निडर होकर खड़े रहते थे।

अख्तर ने कहा की धोनी वर्ल्ड क्रिकेट के एक बेहतरीन फिनिशर रहे है। उनकी कलाईयों में बहुत दम था तभी वो हेलीकॉप्टर शॉट तथा खड़े खड़े गेंद को बाउंड्री के बाहर भेजने की ताकत रखते थे। वो बाकी सभी बल्लेबाजों से सबसे अलग थे। भगवान ने उनके अंदर बेहतरीन विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी की गजब प्रतिभा दी है।

साथ ही उन्होंने कहा कि 2011 वर्ल्ड कप के दौरान धोनी द्वारा छक्का लगाकर मैच जीताना किसी परियों की कहानी से कम नहीं था।

उन्होंने कहा कि धोनी के कप्तानी के अंदर भारत ने क्रिकेट वर्ल्ड पर राज किया और सारी बड़ी ट्रॉफियां जीती। भगवान ने उन्हें बहुत स्पेशल बनाया है। आज तक उन्होंने किसी का नुकसान नहीं किया और ना ही किसी के बारे में कुछ बुरा कहा। वो एक युग का नाम थे और मेरे हिसाब से बीसीसीआई को उनको फेयरवेल देना चाहिए।


क्रिकेट समाचार टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।