X close
X close

VIDEO : 'गाबा टेस्ट में ड्रॉ चाहते थे रवि शास्त्री', अश्विन ने खोलकर रख दिया सबसे बड़ा राज़

Ravichandran Ashwin reveals ravi shastri wanted draw in gabba test against australia : रविचंद्रन अश्विन ने गाबा टेस्ट की ऐतिहासिक जीत को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा किया है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav June 05, 2022 • 15:26 PM

2020/21 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत की 2-1 टेस्ट सीरीज़ जीत आज भी भारतीय फैंस की यादों में तरोताज़ा है। इस जीत को देश की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक माना जाता है। पहले टेस्ट के बाद कप्तान विराट कोहली भारत लौट आए थे और उसके बाद अजिंक्य रहाणे की अगुवाई वाली टीम ने कंगारुओं को कड़ी टक्कर देते हुए चारों खाने चित्त कर दिया। इस दौरे में खिलाड़ी एक के बाद एक चोटिल होते रहे लेकिन टीम इंडिया में जिसे भी मौका मिला उसने देश के लिए लड़ने का कमाल का ज़ज्बा दिखाया।

तीन टेस्ट मैचों के बाद सीरीज का स्कोर 1-1 था और भारत को सीरीज जीतने के लिए ऑस्ट्रेलिया को उसके गढ़ ब्रिस्बेन यानि गाबा के मैदान पर हराना था। इस मैदान पर ऑस्ट्रेलिया 1988 के बाद से कोई भी टेस्ट नहीं हारा था। लेकिन ऋषभ पंत के अविश्वसनीय नाबाद 89, शुभमन गिल (91), चेतेश्वर पुजारा (56) की पारियों ने इस करिश्मे को अंज़ाम दिया और वाशिंगटन सुंदर के 22 रनों ने ताबूत में आखिरी कील ठोकने का काम किया और भारत ने अंतिम टेस्ट में 329 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल करके सीरीज 2-1 से जीत ली।

Trending


हालांकि, इस शानदार जीत के एक साल बाद, भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने एक बहुत बड़ा खुलासा किया है। अश्विन ने खुलासा किया है कि तत्कालीन मुख्य कोच रवि शास्त्री गाबा टेस्ट में ड्रॉ चाहते थे। अश्विन ने चेज में पंत के आक्रामक रवैये को याद करते हुए खुलासा किया कि ड्रेसिंग रूम इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति में था कि टीम जीत के लिए जाए या ड्रॉ के लिए।

अश्विन ने स्पोर्ट्स यारी के साथ बातचीत के दौरान बताया, "ये समझना बहुत मुश्किल है कि उसके (पंत के) दिमाग में क्या चल रहा है। वो कुछ भी कर सकता है। उसके पास इतनी अविश्वसनीय क्षमता है कि वो सोचता है कि वो हर गेंद पर छक्का लगा सकता है। कभी-कभी, उसे शांत रखना मुश्किल होता है। सिडनी में, पूजी ने उन्हें शांत रखने की कोशिश की लेकिन आखिरकार वो शतक से चूक गए।

आगे बोलते हुए अश्विन ने कहा, "इस टेस्ट (गाबा में चौथा टेस्ट) में, रवि भाई ड्रॉ चाहते थे। क्योंकि हम मैच ड्रा कर सकते थे। लेकिन सभी की एक अलग प्लानिंग थी! मैंने जिंक्स (अजिंक्य रहाणे) से पूछा, "क्या हम जीत के लिए जा रहे हैं?" और उन्होंने कहा, "वो (ऋषभ पंत) अपना खेल खेल रहा है। हम देखेंगे कि आगे क्या होता है।" जिस समय वाशी (वॉशिंगटन सुंदर) ने अंदर जाकर 20 रन बनाए, हमारी प्लानिंग बदल गई। वाशी ने भी बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया था।"