X close
X close

शुभमन गिल से जुड़ी 5 दिलचस्प बातें, इस अनोखे अंधविश्वास पर करते हैं भरोसा

Shubman Gill से जुड़ी वो बातें जिन्हें बेहद कम लोग जानते हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे मुकाबले में शुभमन गिल ने शानदार शतक जड़ा है।

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma January 18, 2023 • 17:02 PM

Shubman Gill Interesting facts: 8 सितंबर 1999 को पंजाब के फाजिल्का में जन्में शुभमन गिल ने बहुत कम उम्र में क्रिकेट में गहरी रुचि विकसित कर ली थी। उनके पिता कृषि से संबधित हैं और शुभमन को क्रिकेटर के रूप में विकसित करने में उनकी बहुत बड़ी भूमिका रही। कहा जाता है कि बचपन में शुभमन गिल क्रिकेट के इतने दीवाने हो गए थे कि उन्हें बल्ले के अलावा कोई खिलौना पसंद ही नहीं था।

अंडर 19 वर्ल्ड कप में बनाई थी अलग पहचान: U19 वर्ल्ड कप 2018 में शुभमन गिल टीम का हिस्सा थे। शुभमन गिल टीम के सबसे महत्वपूर्ण सदस्यों में से एक थे। फाइनल को छोड़कर, उन्होंने अन्य सभी मैचों में पचास या उससे अधिक का स्कोर किया था। पाकिस्तान के खिलाफ उनकी नाबाद 102 रन की मैच विजयी पारी की सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ने तारीफ की थी।

Trending


सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली को मानते हैं आदर्श: शुभमन गिल महान सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली को अपना आदर्श मानते हैं। हालांकि सचिन उनके सर्वकालिक पसंदीदा क्रिकेटर हैं, विराट कोहली मौजूदा क्रिकेटरों में उनके पसंदीदा हैं। शुभमन गिल ने का था, 'मेरे सर्वकालिक पसंदीदा क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर हैं। जब मैंने क्रिकेट देखना शुरू किया था, वह लेजेंड थे आज भी लेजेंड हैं और हमेशा रहेंगे। लेकिन, अब मेरे पसंदीदा विराट कोहली हैं। मुझे उनका स्टाइल पसंद है, जिस तरह से वह खुद को कैरी करते हैं और जिस तरह से वे प्रेशर को हैंडल करते हैं।'

100 से ज्यााद का है औसत: शुभमन गिल एकमात्र ऐसे क्रिकेट खिलाड़ी हैं जिनका यूथ वनडे में औसत 100 से अधिक का है। 16 मैचों में उन्हें 15 बार बल्लेबाजी करने का अवसर मिला और चार शतकों सहित उनके बल्ले से 1,149 रन निकले। उनका औसत 104.45 है और उनका उच्चतम स्कोर 160 का है।

यह भी पढ़ें: क्या 23 साल के शुभमन गिल बनेंगे विराट कोहली से बड़े ब्रांड?

लाल रूमाल को रखते हैं साथ: एक लाल रूमाल है जिसे शुभमन गिल खेल के दौरान अपने साथ रखते हैं। इस अनोखे अंधविश्वास के पीछे की कहानी यह है कि वह अंडर-16 खेलों में से एक में सफेद रूमाल लेकर गए और शतक बनाया। इससे पहले वह कम स्कोर से जूझ रहे थे। चूंकि वह गंदा हो गया था उन्होंने एक लाल रंग का रुमाल कैरी किया और शतक जड़ा। तब से वो इस धारणा को जारी रखे हुए हैं।