X close
X close

IPL 2020: धोनी चेन्नई सुपर किंग्स के प्लेइंग XI में ज्यादा बदलाव क्यों नहीं करते,दीपक चाहर ने किया खुलासा 

By Prabhat Sharma
Oct 04, 2020 • 17:22 PM

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी हमेशा से ही नए खिलाड़ियों को मौका देने में विश्वास रखते हैं। आईपीएल के दौरान सीएसके की कप्तानी करते हुए ऐसा बहुत ही कम मौकों पर देखा गया है कि धोनी ने अपनी प्लेइंग XI में ज्यादा बदलाव किए हों। यही वजह है कि लगातार असफल होने के बावजूद धोनी ने शेन वॉटसन को टीम में मौका दिया और वॉटसन ने 2018 आईपीएल के अंतिम मुकाबलों में शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम को जीत दिलाई।

बीते दिनों चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ी दीपक चाहर ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कमेंटेटर आकाश चपोड़ा से बातचीत के दौरान महेंद्र सिंह धोनी से जुड़े सवालों का खुलकर जवाब दिया। 

Also Read: पंजाब के खिलाफ मैच से पहले शेन वॉटसन का बयान, ओपनिंग बल्लेबाजों को पॉवरप्ले में करना होगा धमाका

दीपक चाहर ने कहा, 'जब मैंने चेन्नई की टीम से अपना पहला मैच खेला था तब टीम के कोच फ्लेमिंग मेरे खेलने पर पूरी तरह से भरोसा नहीं कर पा रहे थे। उन्होंने माही भाई से बोला था कि यह खिलाड़ी अभी काफी युवा है इसे 2-3 मैच के बाद से खिलाते हैं।'

दीपक चाहर ने आगे कहा, 'कोच फ्लेमिंग से माही भाई ने कहा था कि यह लड़का पूरे 14 मैच खेलेगा चाहे यह जितना भी खराब क्यों न खेले लेकिन फिर भी मैं इसे पूरे टूर्नामेंट में मौका दूंगा। माही भाई का यह मानना है कि अगर आपको किसी भी खिलाड़ी को बनाना है तो फिर उन्हें आईपीएल के दौरान पूरे 14 मैचों में मौका देना होगा। ऐसे में वह खिलाड़ी यह तो बड़ा प्लेयर बन जाएगा वरना खुद ही मना कर देगा कि यह मेरे बस का नहीं है।' यही वजह है कि महेंद्र सिंह धोनी टीम में ज्यादा बदलाव करने में विश्वास नहीं करते हैं।

बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स फिलहाल 4 मैचों में 1 जीत के साथ अंक तालिका में अंतिम स्थान पर है। वहीं दिल्ली कैपिटल्स की टीम 4 मैचों में 3 जीत के साथ अंक तालिका में टॉप पर बनी हुई है।